जिस बुलंदशहर में जमा हो रहे लाखों उलेमा उसी जिले में अलाउद्दीन के घर छापेमारी करने गयी पुलिस को घेर कर भयानक पत्थरबाजी.. सब इंस्पेक्टर घायल

एक तरफ लग रहे थे तम्बू और तैयारियां हो रही थी अमन, शांति आदि की बातों की तो दूसरी तरफ हंगामा मचा हुआ था अलाउद्दीन के घर हो घेर कर पहले बिजली विभाग वालों और पत्थर बरसा चुका था और उसके बाद सब इंस्पेक्टर को बींध दिया पत्थरो से .. फिलहाल उस मामले में पुलिस ने भी कड़ी कार्यवाही करते हुए अब तक कई पत्थरबाजों को गिरफ्तार कर लिया है जिसकी संख्या 19 के आस पास बताई जा रही है .. अलाउद्दीन का ये रूप उस रूप से किसी भी हाल में मेल नही खा रहा जो तम्बू में लाउडस्पीकर में बताया जा रहा है ..फिलहाल अलाउद्दीन की दादागीरी ऐसी थी वहां की वो बिजली मुफ्त की जलाएगा और जो भी उसको रोकेगा उसे पत्थरो से बींध दिया जाएगा .. ऐसा उस ने किया भी और पहले निशाना बनाया बिजली विभाग के कर्मचारियों को और उसके बाद पुलिस को भी ..

सिकंदराबाद में सोमवार रात को बिजली चोरों ने पुलिस पर फायरिंग कर दी। उन्‍हाेंने पुलिसकर्मियों पर पथराव तक किया। फायरिंग में एक बच्ची भी घायल हुई है, जबकि पथराव में एक दरोगा गंभीर रूप से घायल हो गया। उनको सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. दरअसल, सोमवार सुबह विद्युत विभाग की टीम सिकंद्राबाद के एक मोहल्ले में बिजली चोरी को रोकने के इरादे से गई थी। टीम बिजली चोरों को भी पकड़ने गई थी। क्षेत्र में विद्युत चोरी पकड़ में आते ही लोग बिजली विभाग की टीम पर ही हावी हो गए और उन्हें मारपीट कर भगा दिया। साथ ही सरकारी दस्तावेज भी फाड़ दिए। इसके बाद गिजली विभाग के कर्मियों ने एसडीओ कार्यालय पर आकर धरना-प्रदर्शन किया। उन्‍होंने अधिकारियों से आरोपियों के विरुद्ध एफआईआर लिखवाने के बाद दोषी लोगों को पकड़ने की मांग की।

कर्मचारियों के तेवर देख पुलिस सकते में आ गई। इसके बाद कई थानों की पुलिस को बुलाकर मौके पर दबिश दी गई। पुलिस को आता देख किसी अज्ञात शख्‍स ने पुलिस पर फायर कर दिया। इससे क्षेत्र की ही नाबालिग लड़की को गोली लग गई और वह घायल हो गई। इसके बाद भी आरोपी नहीं माने और पुलिस टीम पर पथराव करने लगे। पथराव में एक दरोगा घायल हो गया। घायल पुलिसकर्मी को उपचार के लिए अस्पताल भेजा गया है ..

इसके बाद पुलिस टीम ने आरोपियों की तलाशी के लिए घर-घर जाकर मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में तलाशी ली और 17 लोगों को हिरासत में ले लिया। एसपी सिटी प्रवीण रंजन सिंह का कहना है कि पथराव में घायल दरोगा और नाबालिग लड़की दोनों ही सकुशल हैं। किसी की भी हालत गंभीर नहीं है। पुलिस ने 19 लोगों को हिरासत में लिया है। कानून-व्यव्यस्था बनाने के लिए मौके पर भारी पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है। आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

Share This Post

Leave a Reply