उठ रही माँग इस इस्लामिक संगठन को बैन करने के लिए. बताया गया कि ये भी करने लगेगा क़त्ल

जमशेदपुर में बना मुसलिम एकता मंच इंडियन मुजाहिद्दीन (आइएम) जैसा बन जायेगा. इस संगठन पर जल्द से जल्द प्रतिबन्ध लगाना बेहद जरुरी है जिससे की इसकी गतिविधियों को रोका जा सके. बच्चा चोरी की अफवाह को लेकर सात लोगों की पीट-पीट कर हत्या की घटना के बाद जमशेदपुर के मानगो में हुई घटना की जांच के लिए गठित कमेटी ने इसकी अनुशंसा की थी. कमेटी में कोल्हान प्रमंडल के तत्कालीन अायुक्त डॉ प्रदीप कुमार और तत्कालीन डीआइजी प्रभात कुमार शामिल थे. उल्लेखनीय है कि आइएम एक आतंकी संगठन है. जांच कमिटी अनुसार आईएम एक आतंकी संगठन है.
इससे पहले खुफिया एजेंसी ने सरकार को एक रिपोर्ट भेजी इस रिपोर्ट में लिखा गया कि मुस्लिम एकता मंच कई अवैध गतिविधियो को अंजाम देता रहता है. अवैध धंधे की बदौलत सदस्यों ने करोड़ो की संपत्ति जुटाई है. खुफिया एजेंसी ने मुसलिम एकता मंच के ऐसे लोगों की संपत्ति जब्त करने की अनुशंसा सरकार से की थी. ज्ञात हो कि बच्चा चोरी की अफवाह को लेकर सरायकेला व जमशेदपुर में सात लोगों की हत्या के बाद मानगो में मंच के लोगों ने जुलूस निकाला था. इसके बाद एक समुदाय के लोगों ने हंगामा किया था. पुलिस की गाड़ी फूंक दी गयी थी और  थाने पर पथराव किया था.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share