Breaking News:

UP में बलात्कारी को फिर मारी गई गोली.. बलात्कारी का नाम असगर.. UP पुलिस के नए रुख का हर तरफ स्वागत

एसएसपी अजयपाल शर्मा के नेतृत्व वाली उत्तर प्रदेश की रामपुर पुलिस ने बलात्कारियों के खिलाफ जिस चिंगारी को हवा दी थी तो अब बस्ती तक पहुँच गई है. उत्तर प्रदेश पुलिस के जवान बलात्कारियों के खिलाफ वही कर रहे हैं, जिसकी मांग राष्ट्र लंबे समय से कर रहा था. जब भी देश में कोई हैवान दरिंदा किसी मासूम के साथ दुष्कर्म करता था, हैवानियत को अंजाम देता था तो राष्ट्र की जनता आँखों से अंगारे फूट पड़ते थे तथा लोग सोचते थे कि आखिर नारी अस्मिता के दुश्मन इस हैवानों का इलाज बन्दूक की गोली से क्यों नहीं हो सकता? आखिर क्यों इन हैवानों को मौत की सजा नहीं दी जाती.

जहाँ मुख्यमंत्री का सम्मान नहीं सुरक्षित वहां कार्यकर्ताओं की जान कैसे बचे ? गाजियाबाद में भाजपा नेता की हत्या से पहले खूब बढाये गये थे ऐसे अपराधियों के मनोबल

नारी सम्मान के लिए आक्रोशित लोगों की आँखों में कुछ समय पहले ही उस समय चमक लौट आई जब उत्तर प्रदेश के रामपुर में बलात्कारी नाजिल को पुलिस ने गोली मारी. इसके बाद पूरे देश के रामपुर प्रशासन की जमकर सराहना की थी, पुलिस के जवानों को सैल्यूट किया था. अब रामपुर जैसा ही हुआ है उत्तर प्रदेश के बस्ती में जहाँ सोनहा क्षेत्र की नाबालिग छात्रा के साथ दुष्कर्म के मुख्य आरोपी असगर को पुलिस ने एनकाउंटर में गोली मारी. फोरलेन के पास स्थित हरदिया ओवरब्रिज के पास घेरने पर पुलिस पर उसने फायर किया.

हिंदुत्व से इतने प्रभावित हुए अमेरिका के CA सेथ डे कि ओढ़ लिया भगवा और बन गए ब्रह्मचारी.. बस गये भारत में

इसके बाद बस्ती पुलिस के जवानों की बंदूकों से भी तड़तड़ाहट की आवाज आने लगी तथा एक गोली असगर को जा धंसी. इसके बाद असगर वहीं गिर पड़ा. बता दें कि रविवार शाम घर से शौच गई किशोरी को गांव के ही असगर तथा हलीम सहित चार लड़के पीछे आ गये. उनमें से एक असगर ने दुष्कर्म किया और साथ गए हलीम ने वीडियो बना डाला. बाकी दो लड़के धमकाते रहे कि किसी से शिकायत की ते जानसे मार देगें. सोमवार सुबह पीड़िता की तहरीर पर सोनहा पुलिस ने असगर समेत चार आरोपियो के विरूद्व बलात्कार सहित विभिन्न धाराओं मे अभियोग पंजीकृत किया. मामला दर्ज करते ही पुलिस टीम  बलात्कारियों की तलाश जुट गई.

मदरसे में पढ़ने वाले 19 से कम उम्र के बच्चों को बुझानी पड़ती थी मौलाना की हवस की आग.. वो मदरसा जिसे सब मानते थे पढ़ाई का केंद्र

इसके बाद सीओ सिटी आलोक सिंह के नेतृत्व में स्वाट प्रभारी विक्रम सिंह एवं इंस्पेक्टर सोनहा संजय नाथ की टीम ने सोमवार देरशाम फोरलेन से कुछ दूर स्थित हरदिया ओवरब्रिज के पास घेराबंदी की. स्वाट प्रभारी के अनुसार रैपुरा पुलिया के पास से होकर असगर भागता हुआ हाइवे की तरफ जाते दिखा. पुलिस ने रोकने की रोकने की कोशिश की तो उसने फायरिंग कर  दी. इसके बाद पुलिस टीम की बंदूकें भी गरज उठी तथा पुलिस की गोली ने असगर ने शरीर को भेद दिया और असगर वहीं गिर पड़ा, जिसके बाद पुलिस उठे अस्पताल लेकर गई.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share