जहाँ हिन्दुओं को बनाया जाता था ईसाई, वहां पर दिखने लगे भगवा ध्वज और दीवारों पर लिख दिया गया जय श्रीराम

वो जगह जहाँ ईसाई मिशनरिया प्रार्थना सभा के बहाने धर्मान्तरण की दुकान चलाती थी, वो जगह जहाँ एक साजिश के तहत हिन्दुओं को ईसाई बनाया जाता था तथा सनातन हिन्दू धर्म के खिलाफ अभियाना चलाया जाता था, रविवार को वहां का माहौल बदला हुआ सा नजर आया था. जहाँ हिन्दुओं को ईसाई बनाया जाता था, वहां भगवा झंडे दिखाई देने लगे. इसके साथ वहां की दीवारों पर सनातनी उद्घोष “जय श्रीराम” लिख दिया गया.

मामला उत्तर प्रदेश के जौनपुर का है जहाँ के बदलापुर क्षेत्र के कटहरी गांव में ईसाइयों की प्रार्थना सभा के दौरान धर्म परिवर्तन कराने के आरोप में रविवार को हिन्दू संगठन के कार्यकर्ताओं ने प्रार्थना सभा स्थल पर प्रदर्शन कर नारेबाजी की. हिन्दू संगठनों के कार्यकर्ता लेदुका बाजार से जुलूस निकालकर जय श्रीराम का जयघोष करते हुए कटहरी गांव पहुंचे. हिंदूवादी कार्यकर्ताओं ने प्रार्थना सभा स्थल की दीवार पर जय श्रीराम लिख दिया तथा भगवा फहरा दिया. चंद्रसेन सिंह ने ग्रामीणों से कहा कि हम सब हिंदू धर्म से जुड़े हैं. हमको इस बात का फख्र होना चाहिए. आज हिंदू समाज को तोड़ने के लिए तमाम मिशनरियां काम कर रही हैं. हम सब को संगठित रह कर अपनी ताकत दिखाने की जरूरत है तथा हिन्दू विरोधी ताकतों के नापाक मंसूबों को कभी कामयाब  नहीं होने देना है.

आरोप है कि कटहरी गांव में एक व्यक्ति लोगों को तरह तरह का प्रलोभन देकर धर्म परिवर्तन करा रहा है. प्रत्येक रविवार तथा गुरुवार यह काम किया जाता है. सूचना मिलने पर रविवार को हिन्दू संगठन के कार्यकर्ताओं ने प्रार्थना सभा स्थल पर धार्मिक स्लोगन, प्रार्थना के बारे में लिखे लेख को चूना पोत कर साफ किया और जय श्रीराम लिख दिया. इसके साथ ही कार्यकर्ताओं ने भारत में रहना है तो जय श्रीराम कहना है के नारे लगाए.

इसके अलावा करमहीं गांव में धर्मांतरण का प्रयास कर रहे पांच व्यक्तियों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया. पुलिस ने बताया कि शनिवार की शाम सूचना मिली कि उक्त गांव में कुछ लोग धर्मांतरण कराने का प्रयास कर रहे हैं. मौके पर पुलिस पहुंची तो बिना किसी अनुमति के एक व्यक्ति के घर में ईसा मसीह की फोटो लगाकर धर्म परिवर्तन जैसी हरकत करते मिले. रविन्द्र मौर्या, चंद्रबली मौर्या, साहब लाल यादव, सुभाष मौर्या और नन्हकू को हिरासत में ले लिया गया. सूत्रों के मुताबिक उक्त गांव में काफी समय से ईसाई मिशनरियों के एजेंट प्रलोभन देकर धर्म परिवर्तन कराने की गतिविधियों में जुटे हुए हैं.

Share This Post