“बंद कर ये जय माता दी का नारा, तुझे नहीं पता ये हमारा इलाका है” -बोलकर सुलग उठा बिहार का मुंगेर


“बंद करो अपनी जय माता दी बोलना वरना ठीक नहीं होगा. क्या तुम्हें पता नहीं है कि ये हमारा इलाका है तो तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई यहाँ से प्रतिमा विसर्जन यात्रा निकालने की, चलो वापस जाओ”, ये पकिस्तान में नहीं है और न ही सीरिया में हुआ है बल्कि ये हिन्दुस्तान में ही हुआ है. जी हाँ बिहार के मुंगेर में कुछ इस्लामिक कट्टरपंथी लोगों ने माँ दुर्गा की प्रतिमा की विसर्जन यात्रा को जबरन रोक दिया. गौरतलब है कि चैत्र नवरात्री के समाप्ति के बाद मुंगेर में माँ दुर्गे की प्रतिमा विसर्जन यात्रा निकाली जा रही थी तभी नीलम चौक के पास मुस्लिम समुदाय के कुछ लोगों ने यात्रा को जबरन रोक दिया तथा कहा कि ये हिन्दुओं का इलाका नहीं है, यहाँ जय मातादी के नारे नहीं लग सकते और न ही यात्रा निकाली जा सकती है.

यात्रा में शामिल लोगों ने जब उन्हें समझाने की कोशिश की तो उन लोगों ने यात्रा पर हमला कर दिया जिसके कारण वहां दंगे की स्थिति बन गयी. स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को नीलम चौक, बाटा चौक और बक्सा गली के पास कई चक्र हवाई फायरिंग करनी पड़ी. मंगलवार की रात पथराव की सूचना मिलते ही एसपी आशीष भारती पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे. बाटा चौक पर कुछ असामाजिक तत्वों ने दुकानों में लूटपाट भी की. स्थानीय लोगों ने बताया कि प्रतिमा विसर्जन के दौरान एक पक्ष के लोगों ने गाना बजाने और नारा लगाने का विरोध किया. इसी पर दोनों पक्षों में तीखी बहस हो गई. देखते ही देखते दोनों पक्षों में रोड़ेबाजी होने लगीघटना के बाद पूरबसराय, रिफ्यूजी कॉलोनी, नीलम चौक, बाटा चौक, गांधी चौक आदि जगहों पर पुलिस तैनात कर दी गई.

एसपी आशीष भारती ने कहा कि गाना बजाने को लेकर विवाद हुआ था. माँ दुर्गा की प्रतिमा विसर्जन यात्रा निकाली जा रही थी जिसमें जयकारे लगाये जा रहे जिसका दुसरे समुदाय के लोगों ने विरोध किया तथा यात्रा र्रोक दी. जिसके कारण स्थिति खराब हो गयी. दोनों पक्षों की ओर से रोड़ेबाजी भी हुई. यात्रा पर हमला करने वालों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा. फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है. जरा सोचिये मुंगेर की क्या स्थिति बना दी गयी है कि हिन्दू समाज अपनी धार्मिक यात्रा तक नहीं निकाल सकता है. क्या मुंगेर पकिस्तान में है जहाँ इलाकेबाजी चलेगी कि ये उनका इलाका है तो वहां से हिन्दू समाज के गुजरने पर पत्थरबाजी कर दी जाती है? देश के अन्य हिस्सों में मुंगेर जैसी घटना न घटे इसके लिए जनसंख्या नियंत्रण कानून जरूरी है ताकि मुस्लिमों की बढ़ती आवादी पर रोक लगाई जा सके और देश को पकिस्तान बनने से रोका जा सके. 


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...