श्रीरामनवमी के पावन दिवस भी धधक उठा बिहार…आक्रांताओं को रास नहीं आये राम


कुछ मजहबी उन्मादी सोच के व्यक्तियों की वास्तविकता, उनका मूल चरित्र ऐसा होता ही है कि आप कुछ भी कर लीजिए, कितना भी समझा लीजिये लेकिन वो अपनी आक्रांताई सोच से बाज नहीं आते. अभी हाल ही में हिंदू नववर्ष पर ऐसी मजहबी उन्मादी सोच से ग्रसित कुछ लोगों बिहार के भागलपुर तथा राजस्थान के टौंक मैं भगवा रैली पर हमला किया था, पत्थरवाजी की, आगजनी की. इस अबके बाद भी ये लोग धर्मनिरपेक्षता के सबसे बड़े पैरोकार माने हैं और जिस हिन्दू समाज की धार्मिक यात्राओं पर हमला होता है उस हिन्दू समाज को ही असहिष्णु बताकर कटघरे में खड़ा कर दिया जाता है.

ऐसी ही मजहबी उन्मादी सोच का शिकार एक बार फिर हिन्दू समाज हुआ है. कल देश के आराध्य प्रभु श्रीराम के जन्मोत्सव(श्रीरामनवमी) के सुअवसर पर बिहार के औरंगाबाद तथा कैमूर जिले में प्रभु श्रीराम की शोभा यात्रा पर मुस्लिम समुदाय के कुछ लोगों ने हमला किया, पत्थर फेंके तथा आगजनी की. इन आक्रांताओं को श्रीराम रास नहीं आये. जानकारी के अनुसार, औरंगाबाद शहर के नावाडीह मोहल्ले में रविवार को श्रीरामनवमी की शोभायात्रा निकाली जा रही थी तभी अचानक से उपद्रवियों(मुस्लिम समाज) की एक भीड़ ने शोभायात्रा पर हमला पर पत्थरवाजी शुरू कर दी. इसके बाद आक्रांताओं ने नावाडीह में जमकर हंगामा एवं दुकानों में तोडफ़ोड़ शुरू कर दी. नगर थाना के सदर अस्पताल के पास स्थित दर्जन भर दुकानों में आग लगा दी. दुकान में रखा सामान धू-धू कर जलने लगा. यात्रा पर अचानक हुए इस हमले में शोभायात्रा में शामिल लोग घायल हो गए.

इसके अलावा बिहार के कैमूर जिले में भी श्रीरामनवमी शोभायात्रा पर आक्रांताओं ने हमला किया है. ख़बर के मुताबिक कैमूर जिले के चैनपुर थाना क्षेत्र के मलिकसराय गांव में श्रीराम के जन्मोत्सव की शोभायात्रा निकाली जा रही थी तभी मुस्लिम समाज के कुछ लोगों ने जबरन यात्रा को रोक दिया तथा यात्रा पर हमला कर दिया. बताया गया है कि इस हमले में एक दर्जन से ज्यादा लोग घायल हुए हैं. औरंगाबाद की तरह ही कैमूर में आक्रांताओं ने जमकर उत्पात मचाया तथा यात्रा के साथ साथ दुकानों में आगजनी तथा सड़कों पर भी वाहनों में भी तोड़फोड़ की है. यात्रा पर हुए इस हमले के बाद हिन्दू समाज आक्रोशित हो उठा तथा प्रतिक्रिया की जिसके बाद स्थिति बिगड़ गई. बिगड़ते हालातों को देखते हुए पुलिस प्रशासन ने दोनों जगह धारा 144 लगा दी है.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...