भारतमाता की जय बोलते ही उस छात्र पर आ गयी आफत… पहले मौलवी ने बेरहमी से पीटा, फिर मदरसे से निकाला और अंत में तोड़ डाला हाथ क्योंकि

देश में बढ़ते मजहबी कट्टरवाद का एक बड़ा उदहारण उत्तर प्रदेश के महाराजगंज के के एक मदरसे में स्वतंत्रता दिवस के दिन देखने को मिला था जब मदरसे के मौलाना ने झंडारोहण के बाद राष्ट्रगान गाने ससे मना कर दिया था. इसका विडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था तथा इसके बाद न सिर्फ मौलवी की गिरफ्तारी हुई बल्कि मदरसे को सील कर दिया गया. लेकिन ये मजहबी कट्टरपंथ केवल महाराजगंज तक ही सीमित नहीं है बल्कि स्वतंत्रता दिवस पर ही बिहार के दरभंगा के मदरसे में जब एक छात्र रिजवान ने भारतमाता की जय बोला तो मौलवी ने न सिर्फ छात्र की पिटाई की बल्कि उसे मदरसे से निष्काषित भी कर दिया. इसके बाद छात्र के पिता मुमताज़ मदरसे में शिकायत करने पहुंचे तो उनके साथ भी मारपीट की तथा उनका हाथ तोड़ दिया.

मामला बिहार के दरभंगा ज़िला स्थित कमतौल थाने के राढ़ी उत्तरी गांव की है. यहां गांव के ही मदरसे में पढ़ने वाला छात्र रिज़वान 15 अगस्त को झंडा फहराने अपने मदरसा पंहुचा. लेकिन झंडारोहण के बाद अचानक रिज़वान ने भारत माता की जय के नारे लगाने शुरू कर दिए. इसपर मदरसे के मौलवी शिक्षक मोहम्मद तमन्ने का गुस्सा सातवें आसमान पर चढ़ गया. बौखलाए मौलवी ने सभी बच्चे को जाने दिया और रिज़वान को रोके रखा. जैसे ही सभी लोग मदरसे से निकले कि मौलवी ने रिज़वान की पिटाई शुरू कर दी. साथ ही उसे उलटी सीधी बातें भी सुनाई. मामला इतना पर भी ठंडा नहीं हुआ. पिटाई खाने के बाद भी रिज़वान एक दिन बाद फिर पढ़ने मदरसा पंहुचा तो मौलवी शिक्षक ने उसे पढ़ाने से इंकार करते हुए उसे मदरसा से बाहर निकाल दिया.

घर आकर रिज़वान ने पूरी घटना को अपने पिता मोहम्मद मुमताज़ से बताया तो आरोपी मौलवी शिक्षक से मुलाकात के दौरान अपने बेटे रिज़वान की घटना के बारे में पूछताछ करने लगा. बात तू-तू मैं-मैं से बढ़ कर मारपीट में तब्दील हो गई. जिसमें छात्र के पिता मुमताज़ का हाथ टूट गया. वहीं, दरभंगा में इलाज़ कराने के बाद कमतौल थाना में मुमताज मौलवी के खिलाफ मामला दर्ज कराने पहुंचा. लेकिन पुलिस ने मामला दर्ज करने से साफ इनकार कर दिया. इसके बाद मुमताज़ दरभंगा पहुंचकर तमाम पुलिस के बड़े अधिकारी सहित एसएसपी से न्याय के लिए आवेदन दी. साथ ही जिला शिक्षा पदाधिकारी को भी लिखित शिकायत कर मदरसे की जांच कर उचित कार्रवाई की मांग की है.

Share This Post