Breaking News:

UP में कुछ शिक्षकों ने स्कूलों को बना दिया मदरसा तो बिहार के गया में शिक्षक वकार अहमद नंबर देने के बदले मांग रहा शरीर

एकतरफ उत्तर प्रदेश में तमाम प्राथमिक विद्यालयों का इस्लामीकरण हो गया, स्कूलों में मदरसा वाली तालीम दी जाने लगी, पता ही न चला. और ये शायद पता भी न चलता अगर उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार न आती तथा योगी आदित्यनाथ जी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री न बनते. लेकिन अब एक और सनसनीखेज मामला बिहार के गया से सामने आया है जहाँ के एक कॉलेज का प्रोफेसर वकार अहमद एक छात्रा को फर्स्ट डिवीजन के नंबर देने के बदले छात्रा का शरीर मांगता है, उसके साथ शारीरिक संबध बनाने की बता करता है. प्रोफेसर वकार ने छात्रा से फोन पर फर्स्ट डिवीजन के मार्क्स देने के बदले उसके साथ सबंध बनाने शर्त रख दी, जिसे छात्रा ने रिकॉर्ड कर लिया. ये रिकॉर्डिंग सुदर्शन न्यूज़ के पास उपलब्ध है.
खबर के मुताबिक़, गया कॉलेज गया के प्रोफेसर बकार अहमद ने पीजी फोर्थ सेमेस्टर (अंग्रेजी) में पढ़ने वाली एक छात्रा को उसके प्रोजेक्ट में मदद करने के बहाने फोन किया और उससे अश्लील बातें कीं. और उसे अच्छे नंबर से पास कराने के नाम पर यौन संबंध बनाने के लिए कहा. प्रोफेसर ने छात्रा को फर्स्ट क्लास मार्क्स के लिए घर पर आकर उनकी तमन्ना पूरी करने के लिए कहा. परेशान होकर छात्रा ने रंगीले प्रोफेसर की शिकायत पुलिस से कर दी और उनका एक ऑडियो पुलिस तक पहुंचा दिया. इस ऑडियो क्लिप में प्रोफेसर साहब ने कबूल किया है कि वो पहले भी लड़कियों की ऐसी मदद कर चुके हैं. जैसे ही यह मामला सामने आया छात्रों ने कॉलेज परिसर में जमकर हंगामा किया. छात्रा और प्रोफेसर की बातचीत का ऑडियो अब पुलिस के पास है, तथा सुदर्शन के पास भी है जिसमें प्रोफेसर वकार को उससे अच्छा नंबर देने की एवज में लिए अश्लील बातें करते हुए सुना जा सकता है. छात्रा ने पुलिस को बताया कि अंग्रेजी विभाग के प्रोफेसर वकार अहमद ने प्रोजेक्ट में मदद करने के नाम पर उससे उसका मोबाइल नंबर लिया था.
ऑडियो सुनने के बाद साफ़ पता चलता है कि खुद प्रोफेसर वकार के अनुसार, पहले भी छात्राओं की खास मदद कर चुका बकार अहमद कॉन्फीडेंस में था इसलिए छात्रा का नंबर लेने के बाद वो फिर से अपने कैरेक्टर में आ गया और नंबर बढ़ाने की एवज में छात्रा को अकेले में घर पर बुलाने लगा, अश्लील बातें करने लगा, जबकि उसने प्रोफेसर को फोन पर ही बताया कि आपकी बातचीत फोन में रिकॉर्ड कर रही हूं. इसकी शिकायत थाने में करूंगी. छात्रा ने बताया कि प्रोफेसर ने उसकी लाइफ बर्बाद करने की भी धमकी दी. छात्रा का कहना है कि प्रोफेसेर बकार अहमद ने एक बार नहीं कई दफे फोन किया.24 जुलाई को पहला फोन 1.53 दोपहर में किया था. फिर 24 जुलाई की ही शाम को 6.05 बजे फिर फोन किया. 25 जुलाई को दोपहर 1.39 बजे फिर फोन कर प्रोफेसर ने फर्स्ट क्लास मार्क्स के लिए छात्रा से घर आने की बात कही. तब छात्रा ने पूछा कि घर आकर वह क्या करेगी, तो प्रोफेसर ने कहा, ‘हमारी इच्छा पूरी करोगी, तो पैरवी कर नंबर बढ़वा देंगे’.
26 जुलाई को छात्रा ने कॉलेज के अपने साथियों को इस बात की जानकारी दी. साथी छात्रों ने छात्रा से इसकी शिकायत थाने में करने की सलाह दी. इसके बाद कुछ छात्रों के साथ छात्रा रामपुर थाने पहुंची. रामपुर थाने पहुंचने पर छात्रा को जमादार गोपाल मिश्र ने पहले समझाने की कोशिश की. उन्हाेंने कहा कि केस दर्ज करने पर बार-बार गवाही देने जाना पड़ेगा. इसलिए प्रोफेसर को बुला कर माफी मंगवा दिया जाता है. गुरुवार को सामने आयी इस घटना के सिलसिले में कॉलेज परिसर में छात्रों ने जम कर हंगामा किया और आरोपित प्रोफेसर पर कठोर कार्रवाई की मांग भी की. बाद में प्राचार्य ने छात्रों को कार्रवाई का आश्वासन देकर शांत कराया. फिलहाल शिक्षक के नाम हैवानियत का खेल खेल रहे वकार अहमद के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है.
Share This Post