Breaking News:

बिहार में रक्तपात शुरू हुआ…गर्दन इसलिए चीर दी क्योंकि चौक का नाम रख दिया था “मोदी चौक”

बिहार की अररिया लोकसभा सीट पर राजद प्रत्याशी सरफराज आलम की जीत के बाद राजद समर्थक भाजपा नेता तथा केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह की उस बात को शत-प्रतिशत सत्य साबित करने पर तुले हैं जिसमें उन्होंने कहा था कि अररिया सीट अगर राजद ने जीती तो अररिया ISIS का गढ़ बन जायेगा. उपचुनाव जीतने के बड़ा पहले अररिया में भारत के टुकड़े करने के नारे लगाये गये और उसके बाद बिहार के दरभंगा में महागठबंधन के लोगों ने बिलकुल तालिबानी अंदाज में भाजपा के समर्थक की गला काटकर हत्या कर दी है.

खबर के मुताबिक बिहार के दरभंगा में भाजपा कार्यकर्ता कमलेश यादव  ने अपने इलाके में एक चौक का नाम “मोदी चौक” रख दिया था. बताया गया है कि सदर थाना क्षेत्र के भादवा चौक स्थित गुरुवार देर रात दो दर्जन से महागठबंधन समर्थकों ने कमलेश के घर पर हमला कर दिया तथा चौक का नाम बदलने को कहा लेकिन कमलेश के मना करने पर तालिबानी अंदाज में कमलेश के पिता रामचंद्र यादव की गर्दन काटकर हत्या कर दी तथा कमलेश पर भी हमला कर दिया जिसमें  कमलेश भी गंभीर रूप से घायल हुए हैं तथा उन्हें दरभंगा के डीएमसीएच अस्पताल में भर्ती करवाया गया. जानकारी के मुताबिक, घटना के बाद बीजेपी समर्थकों का अस्पताल पहुंचना जारी है. हालांकि, पुलिस इस मामले में किसी प्रकार का बयान देने से बच रही है. 

खबर के मुताबिक कमलेश यादव का कहना है कि दो साल पहले उन्होंने अपने आवास के पास के एक चौका का मोदी चौक रख दिया था इसका बोर्ड लगा दिया था. कमलेश का कहना है कि मोदी के नाम पर चौक का नाम रखने और राजद के लोग नाराज थे. इसे लेकर पहले भी मारपीट हुई थी. उपचुनाव में मिली जीत के बाद महागठबंधन से जुड़े लोगों ने अतिउत्साह में आकर उनके घर में घुसकर उनके परिवार पर हमला कर दिया जिसमें उनके पिता की मौत हो गयी है. घटना के विरोध में बीजेपी समर्थकों ने दरभंगा में कर्पूरी चौक पर विरोध प्रदर्शन किया और रास्ते को जाम कर दिया. इधर, कुछ बीजेपी समर्थक अस्पताल में भर्ती घायल युवक से मिलने पहुंचे हैं तथा हंगामा कर रहे हैं. पुलिस का कहना है कि जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर सजा दी जायेगी.
लेकिन जिस तरह से उपचुनावों में जीत दर्ज करने के बाद महागठबंधन समर्थकों ने जिस तरह से एक भाजपा समर्थक की गला काटकर ह्त्या की है वो बहुत ही बीभत्स घटना है. अररिया सीट पर राजद की जीत का जश्न दरभंगा में तालिबानी अंदाज में भाजपा समर्थक की हत्या कर मनाया गया है. ये निश्चित रूप से बिहार को पकिस्तान बनाने का ट्रेलर मात्र है. जरा सोचिये कि जब महागठबंधन सत्ता में नहीं है तब उन्होंने अपने तालिबानी स्वरूप को दिखाना शुरू कर दिया है, उस आधार पर अगर महागठबंधन सत्ता में आ गया तो बिहार की क्या स्थिति होगी ये जानना मुश्किल नहीं है.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW