UP के एक मदरसे के अन्दर तेज धमाका.. कई घायल, पुलिस मौके पर


मदरसों को ले कर पिछले कुछ समय से लम्बी बहस छिड़ी है जिसमे सबसे पहले वसीम रिज़वी ने उन्माद फैलाते मदरसों को बंद करने की बात कही तो वो कट्टरपन्थियो के निशाने पर आ गये . इसके बाद देहरादून में संघ प्रमुख मोहन भागवत जी ने भी हथियार आदि सिखाते मदरसों के अन्दर राष्ट्रीयता और भारतीयता का पाठ पढाने की बात की तो उनसे भी कुछ मजहबी उलेमा नाराज हो गये . इसी वाद विवाद के बीच में मदरसों से जुडी एक और खबर आई है सामने .

विदित हो कि मिल रही जानकारी के अनुसार ये वाकया है उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिला का . यहाँ पर विगत गुरुवार अर्थात 07 फरवरी को देर रात उस समय अचानक ही अफरातफरी मच गयी जब वहां के एक नामी मदरसे के अन्दर एक तेज धमाके की आवाज आई . धमाका इतना तेज था कि न सिर्फ मदरसे के अन्दर रहने वाले लोग बल्कि उसके आस पास के भी तमाम लोग हडबडा कर उठ गये और मौके की तरफ भागे .. इसी बीच पुलिस को भी सूचना मिल गयी .

जब तक वहां मदद , लोग और पुलिस पहुची तब तक उसी मदरसे में पढने वाले लगभग 12 लोग बुरी तरफ से झुलस कर तड़प रहे थे . बिना समय गंवाए उनको नजदीकी अस्पताल में ले जाया गया जिसमे से 10 की हालत इतनी गम्भीर बन गयी थी कि उनको तत्काल मेरठ के लिए रिफर कर दिया गया है . हालात की गम्भीरता को देखते हुए फौरन ही जिले के तमाम बड़े अधिकारी मौके पर पहुच गये और इस संदिग्ध मामले की जांच शुरू कर दी .

आरम्भिक जानकारी के अनुसार ये मदरसा मुजफ्फरनगर के शहर कोतवाली क्षेत्र के सुजड़ू गांव में चलता है जिसका नाम इस्लामिया अशरफ उल मदारिस बताया जा रहा है . मदरसे में हुए इस धमाके के बाद बुरी तरह से  झुलसने वालों में 10 लड़के और दो लड़किया बताई जा रही हैं . फिलहाल मुजफ्फरनगर जिले की पुलिस इस पूरे मामले की जांच कर रही है और इस पूरे मामले का सच जल्द ही सामने आने की सम्भावना जताई जा रही है ..


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...