Breaking News:

बॉम्बे हाईकोर्ट का अहम फैसला, ईवीएम टैंपरिंग को लेकर फॉरेंसिक जांच के दिए आदेश

मुंबई : देश में पहली बार किसी चुनाव में इस्तेमाल की गयी ईवीएम मशीन के फॉरेंसिक जांच के आदेश दिए गए हैं।  मुंबई विधानसभा चुनावो के नतीजों से असंतुष्ट नेताओं का कहना हैं कि विधानसभा चुनावों में EVM से छेड़छाड़ की गई हैं।

इस गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए बॉम्बे हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई थी। हाईकोर्ट ने जिला अधिकारियो को EVM मशीनों की जांच कराने का आदेश दिया और कहा हैं कि पर्वती विधानसभा क्षेत्र के बूथ नंबर 185 की ईवीएम मशीनों को जांच के लिए हैदराबाद की सेंट्रल फॉरेंसिक लैब भेजा जाए।

अदालत ने फॉरेंसिक लैब से खासतौर पर यह पता लगाने को कहा है कि क्या ईवीएम को दूर बैठे संचालित जा सकता हैं और क्या इनमें कोई अतिरिक्त मेमोरी चिप लगी है, जिनसे चुनाव परिणाम बदले जा सके। बता दें कि साल 2014 में हुए महाराष्ट्र विधानसभा के चुनाव में पुणे के पर्वती क्षेत्र से कांग्रेस उम्मीदवार अभय छाजेड़ ने ईवीएम में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए बॉम्बे हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी।

गौरतलब है कि इस विधानसभा क्षेत्र के जिस बूथ पर अभय को 57 वोट मिले, वहां के 63 लोगों ने हलफनामा देकर कहा है कि उन्होंने कांग्रेस को वोट दिया था चुनाव आयोग के बार बार विश्वास दिलाने के बाद भी यह पहली बार हैं जब देश में किसी चुनाव में इस्तेमाल की गयी ईवीएम मशीन के फॉरेंसिक जांच के आदेश दिए गए हैं। देश में ईवीएम की विश्वसनीयता को लेकर छिड़ी बहस के बीच बॉम्बे हाईकोर्ट का यह आदेश बेहद महत्वपूर्ण है।

Share This Post