उर्दू में शपथ लेने वाले संवैधानिक से ज्यादा मज़हबी बन रहे पार्षद पर दर्ज करवाई गई FIR

भाजपा पार्षद ने बसपा के पाषर्द पर उर्दू में शपथ लेकर सांप्रदायिक माहौल बिगाड़ने की रिपोर्ट दर्ज कराई है। भाजपा पार्षद का कहना है कि मेयर ने हिंदी भाषा में

छपे पत्र के आधार पर शपथ दिलाई थी लेकिन बसपा पार्षद ने अचानक उर्दू में शपथ लेनी शुरु रप दी । उर्दू में शपथ लेकर कृष्णांजलि नाट्यशाला में पिटने वाले

बसपा पार्षद मुशर्रफ हुसैन के खिलाफ सांप्रदायिक माहौल बिगाड़ने के लिए अलीगढ़ जिले के बन्नादेवी थाने में आईपीसी की धारा 295 ए के तहत रिपोर्ट दर्ज कराई

गई है।

आपको बता दे कि बहुजन समाज पार्टी के पार्षद मुशर्रफ हुसैन ने उर्दू में शपथ ली थी। हालांकि उनके हाथ में हिन्दी में छपा शपथपत्र था, लेकिन उन्होंने इसका

अनुवाद उर्दू में कर दिया। इसे लेकर भारी हंगामा हुआ था।
उर्दू में शपथ लेकर बसपा पार्षद मुशर्रफ हुसैन के खिलाफ सांप्रदायिक माहौल बिगाड़ने के लिए अलीगढ़ जिले के बन्नादेवी थाने में आईपीसी की धारा 295 ए के

तहत रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। वार्ड-52 से भाजपा के पार्षद पुष्पेंद्र जादौन ने यह रिपोर्ट दर्ज कराई है।

भाजपा पार्षद का कहना है कि मेयर ने हिंदी भाषा में छपे पत्र के आधार पर शपथ दिलाई थी लेकिन बसपा पार्षद ने अचानक उर्दू में शपथ ली। हालाकि अभी

पुलिस मामले की जांच कर रही है। इस मामले में भाजपा के शहर विधायक संजीव राजा पार्टी पार्षदों के साथ एसएसपी से मिले थे। शिकायत में पुष्पेंद्र ने कहा है

कि संविधान की व्यवस्था के तहत मेयर ने हिंदी भाषा में छपे शपथ पत्र के तहत ही सबको दिलाई थी , लेकिन मुशर्रफ हुसैन ने गलत मंशा और धार्मिक भावनाएं

भड़काने के इरादे से अचानक उर्दू भाषा में शपथ लेनी शुरू कर दी।

यह मामला संविधान के विरुद्ध तथा देश विरोधी गतिविधियों के तहत आता है। उधर, बसपा के जिला अध्यक्ष सूरज सिंह ने हंगामे की सक्षम अधिकारी से निष्पक्ष

जांच की मांग को लेकर पार्टी नेताओं के साथ एसएसपी से मुलाकात की। ज्ञापन में जिला अध्यक्ष ने कहा है कि भाजपाइयों ने उपद्रव करके कानून तोड़ा था। बसपा

पार्षदों से अभद्रता और मारपीट की गई। मेयर की गाड़ी पर पत्थर फेंके गए। समारोह में जूते भी दिखाए गए। इसके लिए भाजपाइयों के खिलाफ एफआइआर दर्ज

की जाए। 

Share This Post

Leave a Reply