नौकरी का लालच रिश्तों की मर्यादा पर भारी .. भाई को घोषित किया शौहर

लालच एक ऐसा शब्द है जो अक्सर किसी ना किसी गुनाह का कारण बनता है . इस बार भी कुछ ऐसा ही हुआ जब लालच के आगे रिश्तों की मर्यादा खण्ड खण्ड हो कर चूर हो गयी , वो भी कोई साधारण नहीं बल्कि भाई बहन का पवित्रतम रिश्ता दांव पर लगाया गया ..

मामला है बिहार के बेगूसराय के नावकोठी इलाके के विष्णुपुर का . यहां तालीमी मरकज़ में शिक्षक स्वयं सेवक के तौर पर सबीला ख़ातून के स्थान पर मुश्ररत ख़ातून का चयन हुआ था .. काफी जद्दोजहद के बाद सबीला ख़ातून की बहाली हुई ..

सबीला की बहाली में पाया गया कि नियुक्त महिला ने विभागीय कागजों में झूठे और भ्रामक तथ्य दे कर नौकरी हासिल की है .. जांच में पाया गया कि ये नौकरी अपने भाई को ही अपना पति बना कर पाई गई है ..

इसी वजह से 2 साल नौकरी के बाद भी उनका वेतन उन्हें नहीं मिला जब उन्होंने जांच करवाई अपने रुके वेतन की तो उसे बताया गया कि उसकी नियुक्ति ही अवैध घोषित कर के रदद् की जा चुकी है क्योंकि उसने अपने भाई को ही अपना पति दिखाया है ..

इस शर्मनाक घटना ने भाई बहन के रिश्तों को तार तार करने में कोई कसर नही  छोड़ी .. मामला इलाके में चर्चा का विषय बना हुआ है …

Share This Post