पेपर लीक मामले में एसआईटी ने बिहार कर्मचारी चयन आयोग के चेयरमैन को किया गिरफ्तार

पटना : बिहार पेपर लीक मामले में एसआईटी ने बिहार कर्मचारी चयन आयोग (बीएसएससी) के चेयरमैन सुधीर कुमार को गिरफ्तार किया है। पेपर लीक कांड के बाद वो फरार चल रहे थे। एसआईटी सुधीर कुमार से पूछताछ कर रही है। एसआईटी ने सुधीर को हजारीबाग से गिरफ्तार किया है। गौरतलब है कि एसआईटी की टीम इससे पहले भी बीएसएससी चेयरमैन सुधीर कुमार से कई घंटों तक पूछताछ कर चुकी है।

पूछताछ के दौरान सुधीर कुमार ने एसआईटी टीम को बताया था कि अभ्यर्थियों के लिए कई नेताओं और रसूखदार शख्सियतों की पैरवी अक्सर उनके पास पहुंचती रही है। जानकारी के मुताबिक, इस मामले में जिले के कई विधायक और नेताओं का नाम भी सामने आया था। कई सेंटरों पर प्रश्नों के उत्तर की पर्चियां भी पहुंचाई गई थी। कुछ अभ्यर्थी तो चिट के रूप में इसे लेकर परीक्षा में पहुंचे थे। प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में दर्ज एफआईआर की जांच में यह बात सामने आई है।

बता दें कि इससे पहले उनके रिश्तेदारों को गिरफ्तार किया गया था जिन्होंने कबूल किया था कि सुधीर ने उन्हें पर्चे दिलवाने में मदद की है। बिहार कर्मचारी चयन आयोग (BSSC) के सचिव पहले से ही पुलिस कस्टडी में है। बीएसएससी पेपर लीक मामले की जांच कर रही एसआईटी की टीम ने प्रश्न पत्र छापने वाले प्रिटिंग प्रेस के मालिक को गुरुवार अहमदाबाद से गिरफ्तार किया था। गुरुवार को टीम पटना लेकर पहुंची थी। गिरफ्तार प्रेस मालिक के यहां पर भी प्रश्न पत्र की छपाई हुई थी।

पेपर लीक के तार इस प्रेस से जुड़ने के बाद टीम मालिक को गिरफ्तार करने के लिए गई हुई थी। पेपर लीक में अब कई लोग गिरफ्तार हो चुके हैं। एसआईटी ने इससे पहले एवीएन स्कूल के निदेशक व औरंगाबाद जिले के निवासी रामाशीष सिंह समेत छह लोगों को गिरफ्तार किया था। एसआईटी का यह दावा है कि इसी सेंटर से आधा घंटा पहले बीएसएससी पेपर लीक हुआ था।

Share This Post