माफिया अतीक अहमद का किला ध्वस्त होने की कगार पर. योगी सरकार के बाद अब बसपा की पूर्व विधायक ने भी किया एलान-ए-जंग

उत्तर प्रदेश की सत्ता को संभालते ही योगी आदित्यनाथ जी ने कहा था की अपराधी तत्व यू पी छोड़ दें अन्यथा गंभीर परिणाम भुगतने को तैयार रहें .. कुछ लोगों ने सोचा की ये घोषणा छोटे गुंडों या मवालियों के लिए जारी हो रही है . सत्ता के केंद्र में बैठे सफेदपोश बाहुबलियों के ऊपर इन घोषाणाओं का कोई फर्क नहीं पड़ने वाला .. पर योगी आदित्यनाथ की सरकार ने अपने माफिया दमन चक्र की शुरुआत ही उनसे की है जिनके नाम की तूती बोला करती थी कभी एक जमाने में .. वो माफिया जिनके खिलाफ सत्ता में साहस नहीं होता था बोलने का वो अब योगी सरकार में एक एक कर के अपने दुर्दिन देख रहे हैं . इन्हे में से एक और सबसे प्रमुख नाम है अतीक अहमद का जो कभी इलाहाबाद के एकछत्र साम्राज्य चलाने वाले कहे जाते थे जिनके इर्द गिर्द ही सारा तंत्र घूमा करता था .

कभी अखिलेश यादव अर्थात मुख्यमंत्री के मंच पर बैठने वाले अतीक अहमद को योगी आदित्यनाथ के अलावा एक बहुत बड़ा झटका लगा है . बहुजन समाज पार्टी की पूर्व विधायक पूजा पाल ने भी अब अतीक अहमद के खिलाफ खुल कर ताल ठोंक चुकी हैं . योगी सरकार की दृण इच्छा शक्ति को देखते हुए श्री पूजा पाल ने हाईकोर्ट इलाहाबाद की शरण ली है और अदालत से अतीक के भाई अशरफ की जमानत रद्द करने की मांग कर के उसे वापस जेल भेजने की याचिका दाखिल की है . 

श्री पूजा पाल पूर्व विधायक राजू पाल की विधवा हैं जिनका कत्ल अतीक और उनके भाई अशरफ ने बेहद दुस्साहसिक ढंग से शहर में दिन दहाड़े किया था . अपने पति के हत्यारों को सबक सिखाने के लिए पूजा पाल पिछले काफी समय से संघर्ष कर रही थी पर अखिलेश सरकार का अतीक अहमद के प्रति अपनापन देख कर वो हतोत्साहित हो जाती थी . योगी सरकार के माफिया तंत्र के खिलाफ तेवर देख कर उनकी खोयी शक्ति वापस आयी है और वो खुल कर मैदान में आ गयी हैं . इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दाखिल करते हुए पूजा पाल ने कहा है की अतीक के तमाम गुनाहों में उनका भाई अशरफ भागीदार रहा है और उसका बाहर रहना अतीक के सिंडिकेट को बढ़ावा देने के बराबर है . याचिका में अतीक के भाई अशरफ की जमानत याचिका फ़ौरन निरस्त करते हुए उसको भी अतीक की तरह जेल भेजने की मांग की गयी है…

अपने भाई के विरुद्ध पूर्व विधायक का यू खड़े हो जाना अतीक के तंत्र के लिए एक बेहद गंभीर झटका है . इस के साथ ही पूर्व विधायक  पूजा पाल ने योगी जी को एक परोक्ष इशारा भी किया है उनके साथ माफिया तंत्र के विरुद्ध खड़े होने का …ज्ञात हो की पूजा पाल शादी के कुछ ही समय बाद तब विधवा हो गयी थी जब उनके पति राजू पाल का अतीक , अशरफ और उनकी गैंग ने तब बेरहमी से कत्ल कर दिया था जब वो विधायक के पद पर था बाद में अपने पति की विधानसभा से पूजा पाल भी विधायक चुनी गयी और उन्होंने विषम हालत में भी अपने पति को न्याय दिलाने की जंग जारी रखी …

Share This Post