Breaking News:

शासन को खुली चुनौती – कोई भी क़ानून बना ले भारत सरकार पर ये कट्टर मुस्लिम नेता केवल शरीयत को मानेगा

वो कभी किसी पर साम्प्रदायिक होने का आरोप लगाता है तो कभी किसी को शांति अमन भाईचारा का दुश्मन बताता है , पर खुद अचानक ही सीना ठोंक कर सामने आ जाता है की वो किसी भी प्रकार से किसी भी सरकारी नियम को नहीं मानेगे . वो ये भी कहता है की उसकी किताब कुरान और हदीस है और जो और जितना भी उसमे लिखा है वो उतना ही मानेगा भले ही भारत सरकार कोई भी क़ानून लगा दे .

यहां बात उत्तर प्रदेश के कद्दावर नेता और मुलायम सिंह यादव परिवार के खासमखास नेता आज़म खान की चल रही है . आज़म खान ने आज कल अपने जहरीले बोलों से ओवैसी को भी पीछे छोड़ने का इरादा बना डाला है . प्रधानमंत्री मोदी को निशाना बनाते हुए उन्होंने भारत की शासन व्यवस्था को भी निशाने पर ले लिया . आज़म खान ने कहा की नरेंद्र मोदी को ना तो हिंदुत्व का ज्ञान है और ना ही इस्लाम की जानकारी. बेहद आपत्तिजनक टिप्पड़ी को आगे बढ़ाते हुए इस कट्टर मुस्लिम नेता ने कहा की औरत की कदर मोदी कहाँ से जानेगा जब उसने अपनी पत्नी और माता दोनों को अपने साथ नहीं रखा . 

अपने आपत्तिजनक बयान में आज़म ने कहा की मोदी कोई भी नियम या क़ानून लगा लें पर वो और उनके साथ के तमाम मुसलमान वही मानेगे जो कुरआन और हदीसों में लिखा गया है . आज़म खान ने कहा की शरीयत से बढ़ कर कुछ भी नहीं हो सकता और मोदी ध्यान दें की तीन तलाक प्रकरण में किसी को भी इल्जाम देने की कोई जरूरत नहीं . कुरआन अपने आप में ही एक अथॉरिटी है जिसे सार मुस्लिम मानेगे . 

Share This Post