गौ रक्षकों पर ऊँगली उठाने वाले ध्यान दें .. घंटों पुलिस पर गोलियां बरसाई हैं गाय काटने वालों ने

अपन सब कुछ दांव पर लगा कर भारत की संस्कृति का आधार बन चुकी गौ माता को बचाने और पालने वालों को बेवजह बदनाम करने वालों के लिए ये खबर बेहद महत्वपूर्ण है क्योंकि यहाँ गौ रक्षको की नहीं अपराधी गौ हत्यारों की करतूत है जिन्होंने साधारण जनता से नहीं बल्कि उच्च प्रशिक्षित पुलिस से घंटों आमने सामने की मुठभेड़ की है वो भी गोलियों के साथ …


मामला आगरा के सिकंदरा हाईवे का है . यहाँ पर पुलिस व गौ हत्यारो में सीधी भिड़ंत की खबर है ..ख़ास बात ये है की गौ हत्यारे पुलिस से घंटो बराबरी की मुठभेड़ किये और पुलिस के बराबर ही गोलियां बरसाते रहे …पुलिस की जवाबी कार्यवाही में एक गौ हत्यारे के पैर में गोली लगी है और उसके बाद पुलिस के जांबाज़ जवानो ने अपनी जान पर खेलते हुए पांच गौ हत्यारों को पकड़ा है ..अपने ऊपर गोली बरसाने वाले गौ तस्कर को पुलिस अब अपनी ही अभिरक्षा में अस्पताल ले आकर गयी है जहाँ उसका इलाज चल रहा है …इस मामले में  4 अन्य गौ तस्करों को हिरासत में लिया गया है जिन से पूछताछ चल रही है ..



सिकंदरा स्थित फैक्ट्री चौकी इंचार्ज व कर्त्तव्यनिष्ठ पुलिस अधिकारी श्री अश्वनी द्विवेदी जी को सूचना मिली की रात में  टाटा 407 से कुछ गौ हत्यारे गुर्जरेगे . श्री अश्वनी जी ने पूरी घेराबंदी कर के रास्ते को सील कर दिया था …पुलिस को देख उन सभी गौ हत्यारों ने अपनी गाडी को और तेज भगाना शुरू कर दिया जिसके बाद श्री अश्वनी जी गौकशों ने इनका पीछा करते हुए थाने में अतिरिक्त फ़ोर्स के लिए वायरलेस कर दिया ..


खुद को चरों तरफ से घिरता देख कर इन सभी अपराधी गौ हत्यारों ने पुलिस पर ही फायर झोंक दिया जिसके बाद पुलिस के जवानो ने भी जवाबी कार्यवाही की . गाय के नाम पर कुछ तथाकथित ठेकेदारों द्वारा बनाये जा रहे नकली माहौल से पुलिस वाले पूरी तरह वाकिफ थे इसलिए उन्होंने बेहद सावधानी दिखाते हुए जवाब दिया जबकि गौ हत्यारों के सर पर खून सवार था …


घंटों गोली चलने के बाद पुलिस की गोली एक तस्कर के पैर में जा लगी जिसके बाद पुलिस ने घेराबंदी करते हुए पांच अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया और घायल का इलाज़ करने के लिए अस्पताल भेज दिया …इनके पास से तमंचा और भारी मात्रा में कारतूस बरामद हुआ और दगे कारतूस के खोखे मिले .. इसके अतिरिक्त इनकी तस्करी में प्रयोग होने वाली  टाटा 407 बरामद हो गयी है जिसे थाने लाया गया है ..पूछताछ में इन अपराधियों ने स्वीकार किया की यह लोग गैंग बना कर जबरदस्ती रात में गाय व भैंसों को खोलकर ले जाते हैं और विरोध करने वालों की हत्या करने तक नहीं पीछे हटते …

पकड़े गये गौकशों में पप्पू पुत्र जशोदी निवासी मानिकपुर सेफऊ, महबूब पुत्र परवादी निवासी नदरई कासगंज, दिलशाद पुत्र जमुनी निवासी नारखी, शहजाद पुत्र हजारी निवासी जलेसर, अलीशेर पुत्र मुन्ना निवासी भंडारगली बरहन हैं। इन सबको विधिक कार्यवाही के बाद जेल भेज दिया गया है …गौ हत्यारों का ये रूप जिसमे पुलिस पर भी गोलियों की बौझार कर दी जाती है , बेहद भयावह और खतरनाक है पर देश में एक तरफा उन्ही लोगों के खिलाफ माहौल कुछ लोग बना रहे हैं जो करुणा भाव से गौ माता की रक्षा और सेवा कर रहे हैं …

Share This Post