Breaking News:

योगी को ट्विट कर के कहा मेरी बेटी को बचा लो. थोड़ी देर में प्रशासनिक अधिकारी घर पहुच गये. बोले – आदेश कीजिए मैडम .

बरेली के नवाबगंज मोहनीगढ़ की रहने वाली बेबी अफ़रोज़ ने बड़े ही अरमानों और सुनहरे सपनों के साथ नवाबगंज के ही बरौर गाँव निवासी मोहम्मद हारून के साथ  २१ मार्च २०१० को निकाह किया था . पर उसने सोचा भी नहीं था की उसके सपनो को पल भर में राख में बदल देगा हारुन और वो भी उस वजह से जिसमे उसका कहीं से भी किसी भी प्रकार से कोई भी दोष नहीं होगा . पर हारून से उसे उसी की ही सज़ा दी .

शादी के बाद बेबी ने एक बेटी को जन्म दिया . घर वाले पूरी उम्मीद से लड़का पैदा होने की आस लगाए बैठे थे. उसी दिन से बेबी की प्रताड़ना शुरू हो गयी उसके ससुराल में . ताने , प्रताडने का दौर शुरू हो गया था . थोड़े दिन बाद एक बार फिर वो समय आया जब बेबी फिर माँ बनने वाली थी तब उसके ससुराल वालों ने साफ बोल दिया की उन्हें हर हाल में बेटा ही चाहिए ..उनका आदेश ीासे था जैसे सब कुछ बेबी के ही हाथ में हो .. पर एक बार फिर बेबी ने बेटी को जन्म दिया .. इस बार बेबी के पति और उसके परिवार वालों से नहीं रहा गया और उन्होंने सीधे ३ तलाक बोल कर बेबी को बाहर का रास्ता दिखा दिया .. 

हारून को एक बार भी अपनी ही फूल जैसी दो बेटियों पर तरस नहीं आया . और आता भी कैसे , वो किसी की बेटी को ही २ मासूमो के साथ अपने घर से निकाल रहा था . काफी रोने और गिड़गिड़ाने के बाद भी जब हारुन के पत्थर दिल परिवार वाले नहीं पिघले तो वो बेबी अपनी दोनों मासूम बेटियों को ले कर अपने मायके आ गयी . उसके माँ बाप जो पहले से ही तमाम जिम्मेदारियों से दबे थे उन्होंने जैसे तैसे बेबी और उनकी बेटियों को पालना शुरू कर दिया .

दुःख ने फिर भी बेबी का पीछा नहीं छोड़ा था . कुछ समय बाद पता चला की बेबी की बड़ी बेटी आयरानाज़ के दिल में छेद है. ये खबर ना सिर्फ बेबी के लिए बल्कि उसे पाल रहे उसके मायके के लिए भी पहाड़ टूटने जैसी थी . उनका परिवार इस हालत में बिलकुल नहीं था की वो इस महंगे दिल के इलाज़ के लिए खर्च उठा सके . ससुराल ने तो हर तरह से रिश्ता तोड़ ही लिया था बेबी और उनकी बेटियों से . जब सब तरफ से निराश हो गयी थी बेबी तब उन्हें किसी ने आला हज़रात खानदान की निदा का पता बताया जो खुद तलाक पाने के बाद ३ तलाक पीड़िताओं की एक आवाज बन चुकी हैं .

निदा खान ने जब बेबी की ये हालत देखी तो उन्होंने योगी आदित्यनाथ को ट्वीट कर के बेबी की सारी जानकारी दी . ट्वीट के बाद बेबी और निदा के आश्चर्य का उस समय ठिकाना नहीं रहा जब वहाँ ले स्थानीय प्रशासन ने खुद बेबी को सम्पर्क किया और बताया की उन्हें मुख्यमंत्री जी की तरफ से आप की हर संभव सहायता का आदेश मिला है . प्रसाशनिक अधिकारीयों को अपनी सहायता में आया देख कर बेबी की आँखों से आंसू निकल पड़े और उन्हें दिल से योगी आदित्यनाथ को लाख लाख धन्यवाद दिया और उनका उपकार ही सच्ची मानवता बताया . योगी आदित्यनाथ को देवदूत की संज्ञा देते हुए कहा की अब उनकी बेटी का इलाज हो जाएगा. उन्होंने कहा की अब वो भी ३ तलाक जैसी इस कुप्रथा को खत्म करने के लिए बाकी महिलाओं के साथ संघर्ष करेगी . 

Share This Post