भोपाल में आताताइयों का भारी हंगामा .. शिव मंदिर के पास जबरन नमाज़ पढ़ने को उतारू


अशांति फैलाने वालों की सीमा अब पार होती जा रही है , हर दिन जिस प्रकार से पाकिस्तान किसी ना किसी जगह मोर्चा खोल रहा है ठीक वैसे ही भारत को अस्थिर करने वालो ने भी अंदर से भारत को अस्थिर करने की मंशा पाल कर आये दिन किसी ना किसी जगह को मोर्चे के रूप में खोल रहे हैं ..

ताज़ा मामला हैं मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल का ..पुराने भोपाल के सोमवारा क्षेत्र में बेहद तनावपूर्ण हालात बन चुके हैं .. भारी पुलिस बल ने वहां मोर्चा संभाल रखा है और इलाके के चप्पे चप्पे पर पुलिस की गश्त शुरू करवा दी गयी है ..

भोपाल के हमीदिया चिकित्सालय में शिव मंदिर के पास नवनिर्मित बिल्डिंग में खुदाई के दौरान एक शिलालेख मिला जिस पर कुछ लिखा था .. मूर्ति पूजा निषेध होने के बाद भी एक वर्ग वहां शिलालेख के मिलने की बात सुन कर जमा हो गया और काम रुकवा कर माइक लगाते हुए वहां नमाज़ शुरू कर दी ..

चूंकि ये मामला आस्था का था जो शिवमंदिर के साथ जुड़ा तहस इसलिए हिन्दू संघटन के लोगो ने भी आज शाम 8 बजे एकत्र होकर महा आरती शुरू कर दी जो मुस्लिमो को बुरा लगा और हालात तनाव के बन गए , फिर  देखते देखते स्थिति तनाव पूर्ण हो गई …दोनो पक्षों की भीड़ को देखते हुए पुलिस ने आँसू गेस के गोले फोड़े । बाजार में भगदड़ और दुकाने बन्द हो गयी.. स्थिति तनाव पूर्ण किंतु नियंत्रण में है ।

बताया जा रहा है कि वो शिलालेख द्वितीय विश्वयुद्ध से सम्बंधित कोई अभिलेख है जिसे अपनी धरोहर बता कर केवल मामले को तूल दिया जा रहा है जबकि उनके  आम जीवन मे पत्थर व शिला पट किसी भी प्रकार से आस्था का प्रतीक नहीं माने जाते अपितु इसे बुतपरस्ती मान कर इस से दूर रहने के ही फ़रमान जारी होते हैं … पर एक साजिश को रचते हुए इस प्रकार से मामले को तूल देना किसी भी प्रकार से न्याय संगत नहीं माना जा सकता है जिसमे समाज मे दहशत फैलाना एक उद्देश्य ही बन जाये …


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share