आगरा के बीचो बीच हथियारों के जखीरे के साथ क्या कर रहा था फुरकान ? और कौन था उसके निशाने पर ?

तुष्टिकरण और वोट बैंक की राजनीति ने उत्तर प्रदेश के भविष्य को कौन सी दिशा दे दी थी इसके उदाहरण अब योगी राज में क़ानून के सख्त होने के बाद मिल भी रहे है और दिख भी रहे हैं . प्रसाशनिक चुस्ती के चलते एक के कर के वो सब गिरफ्त में आते जा रहे हैं जिन्होंने अपने रसूख , पैसे या जहरीली सोच के दम पर बड़ी तबाही का प्लान बना रखा था .  ऐसा ही हुआ आगरा में . 


आगरा में पुलिस ने बेहद सटीक सूचना के आधार पर आगरा में हथियारों की मंडी बन चुके एक अपराधी को गिरफ्तार कर के एक बड़ी सफलता हासिल की है . पुलिस ने
हथियारों के साथ एक बड़े हथियार तस्कर को गिफ्तार कर लिया है . पूछताछ के बाद उसने अपना नाम फुरकान बताया है जिसने खतरनाक इरादे भांपने के लिए पुलिस उस से लगातार पूछताछ कर रही है .


बताया जा रहा है की इस अपराधी के सम्पर्क पडोसी जिलों से भी हैं जहाँ इसके हथियारों की खेप फ़िरोज़ाबाद आदि तक सप्लाई होती थी . अब पुलिस इसके साथ इसके नेटवर्क और ग्राहकों की तलाश कर रही है जिन्हे जांच के दायरे में रखा गया है . आगरा की प्रबुद्ध जनता ने बेहद खतरनाक मंसूबे पाले अपराधी फुरकान को गिरफ्तार करने के लिए आगरा पुलिस का धन्यवाद किया है .  

Share This Post