दिल्ली की निर्भया का दोषी मरा था जेल में , हिमांचल की निर्भया का गुनाहगार मार डाला गया थाने में ही ..


हिमाचल प्रदेश की सर्द वादियों को गर्म कर देने वाले और मानवीय सिद्धांतो से गिर कर पाशविक सिद्धांतो को अपना कर क्रूरता को भी मात देने वाले उन सभी अपराधियों में से एक का कत्ल हो गया है .. यकीनन ये कत्ल संविधान के अनुसार गलत था पर दोषी को दंड भी कम से कम मृत्यु का मिलता जो आगे चल कर कानून जरूर देता … यह सनसनीखेज घटना है कोटखाई थाने कोई …..

इस पाशविक और दुस्साहसिक अपराध में शामिल जिस नेपाली नागरिक ने मीडिया के आगे बेशर्मी दिखाते हुए हँसते हुए अपने अक्षम्य अपराध को स्वीकार किया था उसी नेपाली नागरिक का थाने में ही कत्ल कर दिया गया है . यह कत्ल तब हुआ जब थोड़ी देर बाद ही हिमांचल हाईकोर्ट इस मामले की सीबीआई जांच हो या नहीं इस पर सुनवाई करने वाला था .. इस कत्ल से एक अहम् किरदार और गवाह रस्ते से हटा दिया गया ऐसा माना जा रहा है … पुलिस की अभिरक्षा में हुए इस सनसनीखेज वारदात में पूरे प्रशासनिक अमले में खलबली मच गयी है…

आरोपी का नाम था सूरज जिसके बारे में बताया जा रहा है की उसको लॉकअप के दूसरे कैदियों ने अचानक ही मध्य रात्रि के समय हमला कर के मार डाला .. उस आरोपी का कत्ल करने वाले का प्रारंभिक रूप से नाम राजू आ रहा है . इस कत्ल को करने वाले राजू पर धारा ३०२ के तहत हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है .. सूरज को लहू लुहान हालत में अस्पताल ले जाया गया था जहाँ उसको मृत घोषित कर दिया गया है .. दक्षिण रेंज के DIG उस स्थान पर रवाना हो चुके हैं और तत्काल प्रभाव से कोटखाई थाना का पूरा का पूरा स्टाफ लाइन हाजिर कर दिया गया है जिस से इस कत्ल की जांच निष्पक्ष हो सके … 


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share