अब क्या कर रहा है वो अधिकारी जिसने कभी किया था योगी आदित्यनाथ को गिरफ़्तार

कभी एक पक्ष का दमन होने की खबर ने योगी आदित्यनाथ जी को विचलित कर दिया था और वो निकल पड़े थे जनता के बीच .. सामने प्रशासन था जो मुलायम सिंह के शासन से संचालित था ।।

योगी आदित्यनाथ जी को तमाम सन्देश गए कि वो धरना स्थल पर ना आये , पर योगी जी का कथन था कि जन प्रतिनिधि जनता के बीच कैसे और क्यों ना जाये ? बस यहीं आमने सामने आ गए एक सांसद और एक IAS ।।

उस IAS का नाम था डॉक्टर हरिओम . माना जाता है कि वो मुलायम सिंह के बेहद विश्वासपात्र अफसरों में से एक थे  . उसने योगी आदित्यनाथ जी को गिरफ्तार करने का आदेश दिया और उसके बाद 11 दिन तक योगी आदित्यनाथ जी जेल में रहे जिसका व्यापक विरोध उत्तर प्रदेश की जनता ने किया था ..

सत्ता और शासन बदलने के बाद उत्तर प्रदेश की सरकार ने जिलाधिकारी हरिओम के कार्यों पर नजर दौड़ाई तो पता चला कि उनकी रुचि गायन आदि में बहुत ज्यादा है , तमाम यू ट्यूब आदि उनके गानों से भरे पड़े हैं . इसके अलावा IAS महोदय शेरो शायरी के बड़े दीवाने निकले जिनकी ना सिर्फ डायरी में शायरी का भंडार मिला अपितु तमाम मीटिंगों में शायरी बोलते हुए सुना गया .. 

तमाम तस्वीरें म्यूजिक एलबम आदि की निकालते हुए भी पाई गई उन आईएएस महोदय जी की . योगी सरकार में फिलहाल उन IAS हरिओम जी को प्रतीक्षारत सूची में डाल दिया गया है उस से पहले वो अखिलेश सरकार में संस्कृति विभाग में नियुक्त थे ।।

Share This Post