सोनू निगम की भाषा बोल गया बरेली . उठी मांग कि – रात ३ बजे उन्हें ना जगाया जाय तेज तेज चिल्ला कर

योगी आदित्यनाथ के आने के बाद लोगों ने अपनी उन समस्याओं को सामने रखना शुरू कर दिया है जिनको कहने या बताने की हिम्मत अक्सर बाकी सरकारों में लोग नहीं कर पाते थे. सोनू निगम द्वारा की गयी शुरुआत के बाद अब कई जगहों पर आवाज बुलंद होना शुरू हो चुकी है कानफोड़ू लाऊडस्पीकरों के खिलाफ जिसमे अब नंबर आया है बरेली का .
नया मामला योगी शासित उत्तर प्रदेश का है . यहाँ के बरेली जिले के प्रेमनगर शहर के रहने वालों ने सुबह सुबह कानफोड़ू लाऊडस्पीकर की आवाज से तंग हो कर यहाँ के स्थानीय निवासियों ने प्रशासन से अपनी नींद की गुहार लगाई है . सुबह ३ बजे जबरन जगाने की घटना से परेशान हो कर स्थानीय नागरिकों ने शासन प्रशासन की शरण ली है . 
स्थानीय प्रशासन को शिकायत दर्ज कराई है। बता दें कि इस समय रमजान चल रहा है इसलिए सुबह
स्थानीय नागरिकों का कहना है की सुबह तीन बजे से ही शहर की प्रमुख 7 प्रमुख मस्जिदों में सेहरी का आयोजन किया जाता है , सुबह ३ बजे के बाद से ही इतनी तेज आवाज आती है कि वहां के नागरिकों  का सोना मुश्किल हो जाता है . इस शिकायत के बाद स्थानीय प्रशासन हरकत में आया और मस्जिदों के प्रबंधन से चर्चा शुरू कर दी है . .स्थानीय जनता के ने मस्जिदों से लाऊडस्पीकर उतारने की अपील की है या उसकी आवाज को कम करने की गुहार लगाई है . 



इस मामले में वहां के उप जिलाधिकारी ने कहा है कि मामले की लिखित शिकायत मिली है और गहन जांच के लिए अग्रेसित की गयी है . SDM का कहना है कि इस मामले में सुप्रीम कोर्ट के नियमावली का विधवत पालन किया जाएगा और लाऊडस्पीकरों को या तो म्यूट किया जाएगा और नहीं मानने पर उन्हें उतारा जायेगा..   
Share This Post