Breaking News:

शिमला में भी कुछ लोगों को जमा किया गया था धर्म त्यागने के लिए. तभी पहले हिन्दू संगठन आये , फिर पहुची पुलिस

धर्मांतरण एक ऐसा गंदा खेल बन चुका है जिसने अपने संक्रमण में भारत के हर हिस्से और हर कोने को ले लिया है. धर्मांतरण के गंदे खेल को कुछ सरकारों ने भी गुपचुप तरीके से बढ़ावा दिया है और जब भी कुछ सरकारों ने इस मुद्दे पर गंभीरता दिखाई तब धर्मान्तरण के समर्थक लोगो ने उस सरकार या उन नेताओं के खिलाफ एक स्वर में लामबंद हो कर आवाज उठा कर सामने वाले को ही साम्प्रदायिक घोषित कर दिया . 

ताजा मामला है कांग्रेस शासित हिमांचल प्रदेश की राजधानी शिमला का जहाँ धर्मान्तरण की सूचना पर हिन्दू संगठन और ईसाई मिशनरी आमने सामने आ गए थे जिस को पुलिस ने मौके पर पहुंच कर संभाल लिया . बताया जा रहा है की शिमला के रामपुर इलाके में एक शिक्षण संस्थान में धर्मांतरण के लिए ईसाई समुदाय ने एक कार्यक्रम आयोजित करवाया था जिसकी सूचना हिन्दू संगठनों को मिल गयी. हिन्दू संगठनों ने तत्काल शिक्षण संस्थान को घेर लिया और मिशनरियों से टकराव के हालत बन गए . 

तभी पुलिस को इस मामले की सूचना हुई और भारी संख्या में पुलिस बल मौके पर आया . पुलिस ने दोनों पक्षों को अलग कराया .. मामला चर्चा का विषय बना हुआ है . हिन्दू संगठनों का आरोप है की हिमांचल में चोरी छिपे धर्मांतरण का गंदा खेल चल रहा था जिस पर शासन आँख मूँद कर रखता है .. हिन्दू संगठनों के अनुसार किसी भी प्रकार से धर्मांतरण की घटनाये स्वीकार नहीं की जा सकती है. पुलिस का कहना है की मामला शांत और हालत पूरे सामन्य हैं , इस घटना की पूरी सूचना एकत्र कर के जांच जारी है …

Share This Post