सुदर्शन की खबर पर जागा संत समाज .. संत समाज की आवाज – ” सलीम का खुले राज़”

बिना पूरी पड़ताल के किसी को भी साध्वी प्रज्ञा जैसे आतंकी बना कर जहाँ कुछ मीडिया हाऊस को बाद में शर्मिंदा होना पड़ा वही कुछ लोगों ने अचानक ही बिना पूरी जांच किये किसी को हीरो बनाया और बाद में उन्हें आतंकी सैफुल्लाह के पिता की तरह आये बयान के बाद लज़्ज़ित होना पड़ा .. एक बार फिर कुछ ऐसे ही माहौल बना है जहाँ जीआरपी जवान कमल शुक्ला पहले तो निर्दोष पाया गया और उसके बाद अब सलीम नाम के बस ड्राइवर को अचानक ही मीडिया में ऐसे उछाला जा रहा है की जैसे उसने सेना से बड़ा पराक्रम दिखाया हो ..



इस घटना पर सबसे पहले हमने सवाल उठाया था और 10 प्रश्न किये थे जिसके बाद अचानक ही समाज में चेतना आयी और एक के बाद एक कई उठ खड़े हुए जिसमे अब साधु समाज ने भी सवाल खड़े किये …सबने सलीम के मामले को सही सही जांच कर उचित सत्य सामने लाने की बात की है . ख़ास बात ये है की सेना और CRPF के जवानों के बजाय ये बयान उनके आ रहे हैं जो कश्मीर शायद कभी गए ही नहीं हैं ..

हमारे सवालो का जवाब
तो अभी तक नहीं आया लेकिन हमारी खबर देखकर इसका समर्थन बड़े बड़े साधु संत भी कर रहे
हैं. जिनमे से एक हैं स्वामी विज्ञानानन्द जिन्होंने एक कार्यक्रम में मीडिया
द्वारा किये गए अमरनाथ यात्रियों पर हुए हमले में ड्राइवर सलीम जिसे सबने हीरो बना
दिया हैं उसके बारे में कुछ पुछा जिसपर स्वामी जी ने ड्राइवर सलीम पर ऊँगली उठाते
हुए यह कहा की इतने बड़े आतंकी हमले में ड्राइवर को एक खरोच तक न आना कई सवाल खड़े
करता हैं.

वही ब्राह्मण सभा
के संतोष दीक्षित ने ड्राइवर सलीम के लिए सीबीआई जांच की मांग की हैं.  उन्होंने कहा कि सलीम को शिवभक्तों से भरी बस
को जत्थे से अलग ले जाने की क्या ज़रूरत थी।



ड्राइवर सलीम पर
कई सवाल उठते हैं
, जिसका समर्थन
साधु संत तो कर रहे हैं लेकिन इंतज़ार अब सरकार की प्रतिकिर्या का हैं. आखिर कब तक
इन सवालो को नज़रअंदाज किया जायेगा
? सरकार से  सुदर्शन न्यूज़ का अनुरोध हैं
कि वे जल्द से जल्द अपनी जांच शुरु करे और असलियत का पता लगाए। कही देर न
होजाये।         

        

Share This Post