सुधरने का नाम नहीं ले रहे कुछ.. रिक्शे पर लाद कर अवैध मांस बेच रहे थे जागीर और यासीन. तभी पहुच गया वहां विश्व हिन्दू परिषद्

यदि एक राज्य की राजआज्ञा हो की प्रतिबंधित मांस बेचना पूरी तरह से वर्जित है और यदि कोई बेचा तो उसको कानून का उललंघन माना जाएगा . साथ ही इसका अख़बार और टी वी के माध्यम से विधिवत प्रचार कर के अनुपालन के लिए बार बार संदेश भी दिया जाय फिर भी कोई ऐसा करे तो इसको सीधा सीधा सत्ता और कानून को चुनौती मानी जायेगी और लगभग यही चुनौती दे रहे थे जागीर और यासीन .

मामला है उत्तर पदेश के शाहजहांपुर का . यहाँ मुस्लिम बहुल इलाके सदर बाजार इलाके में पड़ने वाले ककरा कलां मोहल्ले में मोहम्मद जागीर और यासीन प्रतिबंधित मांस रिक्शे पर डाल कर घर घर होम डिलीवरी कर के सीधे सत्ता और सभ्य समाज को चुनौती दे रहे थे . इस बात की सूचना विश्व हिन्दू परिषद् को हुई तो उसने दल बल के साथ यासीन और जागीर को रंगे हाथ पकड़वाने का निर्णय लिया .

विश्व हिन्दू परिषद् के कार्यकर्ताओं को देखते है यासीन और जागीर अपना मांस लदा रिक्शा छोड़ कर भागने लगे . सतर्क विश्व हिन्दू परिषद् वालों ने उनका पीछा किया . तभी इस बात की सूचना किसी ने पुलिस को दे दी .. पुलिस ने मौके पर भारी फ़ोर्स के साथ पहुंच कर यासीन और जागीर को अपनी हिरासत में ले लिया . मांस को रिक्शे के साथ जब्त कर लिया गया है और मांस का परीक्षण करने हेतु प्रयोगशाला में भेज दिया गया है जिसकी रिपोर्ट आने के बाद दोनों और अन्य विधिक रूप में कार्यवाही की जायेगी . बताया जा रहा है की ये मांस ब्लैक रेट पर भी अवैध रूप से बेचा जा रहा था .

Share This Post