Breaking News:

जमशेदपुर में भीषण उत्पात . बारी मस्जिद के पास जमा 500 दंगाइयों ने पुलिस को चुनौती दी .. लगाए साम्प्रदायिक नारे, कश्मीरी अंदाज़ में पत्थरबाजी

बच्चा चोरी में भीड़ के हाथ चढ़े 4 लोगों का बदला अब पूरे जमशेदपुर की शान्ति को भंग कर के लिया जा रहा है और निशाने पर सीधे पुलिस को रखा जा रहा है , वो पुलिस जो क़ानून का दूसरा रूप जानी जाती है और सरहद के अंदर की सीमाओं की रक्षा हेतु दिन रात जाग कर समाज में शान्ति और सुरक्षा का माहौल बनाये रखती है . अब उस पुलिस को दी जा रही है चुनौती …


शनिवार को जमशेदपुर अचानक ही विरोध प्रदर्शन के नाम पर उबल पड़ा . एक साजिश के तहत हुए प्रदर्शन में तमाम जगहों पर भीषण हिंसा हुआ जिसमे आम जनता के साथ साथ पुलिस को भी निशाना बनाया गया .  झारखंड के धातकीडीह और मानगो में कई जगह पुलिस को दंगाइयों पर काबू पाने के लिए लाठीचार्ज, हवाई फायरिंग, आंसू गैस और पथराव भी करना पड़ा ….दंगाइयों को कानूनी दायरे में रह कर संभालने की कोशिश में  आधा दर्जन से ज्यादा पुलिस वाले घायल हो गए …

जाकिरनगर रोड नंबर एक और रोड नम्बर दो में बेहद संवेदनशील साम्प्रदायिक नारे लगा रहे दंगाइयों को पहले खदेड़ा गया उसके बाद उन सब ने सवा नौ बजे के आस पास बारी मसजिद के पास टोली बनायीं और धीरे धीरे लगभग 500 दंगाई जमा हो गए ..सबसे पहले वहां उन्होंने उन्हें समझाने की कोशिस कर रहे डीएसपी श्री के एन मिश्रा के साथ धक्कम मुक्की की पर थोडा पीछे हटने के बाद पुलिस ने मोर्चा सम्भाला और दंगाइयो पर लाठी चार्ज किया जिस से वो भाग निकले …

कुछ समय पश्चात दंगाइयों ने मानगो थाना के अंदर घुसकर भारी नुक्सान पहुचाया और थाना में खड़ी पुलिस की जीप को पलट दिया …उधर आजादनगर के रोड नंबर एक से दंगाइयों ने ने गश्त कर रहे पुलिस के जवानो पर कश्मीर अंदाज़ में पर पथराव् किया .. रैपिड एक्शन फ़ोर्स ने मोर्चा सम्भाला और दंगाइयो को खदेड़ कर शान्ति स्थापित की .. . पथराव को शांतिपूर्वक और कानूनी दायरे में रह कर रोक रहे उलीडीह थाना प्रभारी श्री मुकेश चौधरी और उनके सहयोगी २ अन्य पुलिस के जवान घायल हो गए … हालत काबू में है पर स्थिति तनावपूर्ण है … 

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW