Breaking News:

पूरा परिवार बन चुका ईसाई . पर अभी भी लड़ रही है कि – ‘ भले मुझे मार डालो, पर नही छोडूंगी हिंदुत्व”.सबसे लगाईं गुहार- “मुझे बचा लो”

चौतरफा वार झेल रहा हिंदुत्व कभी कहीं जहरीली सोच का शिकार बन रहा है तो कहीं धर्मांतरण नाम के एक बड़े षड्यंत्र का . वो भी ऐसे शासक के क्षेत्र में जिस भारत में हिंदुत्व का सबसे बड़ा ब्रांड माना जा रहा है जिसे योगी आदित्यनाथ कहते हैं और ऐसे सासंद के क्षेत्र में जिसके हिंदुत्व के बयान पूरे भारत ही नहीं पूरी दुनिया में चर्चित होते है , सब उन्हें साक्षी महराज कहते हैं .


मामला है उत्तर प्रदेश का .यहाँ उन्नाव के सासंद साक्षी महराज जी ने जब धर्मांतरण को देश का सबसे बड़ा खतरा बताया था तब कुछ तथाकथित लोगों ने खुलेआम उनकी आलोचना की और उन्हें साम्प्रदायिक बोला था पर अब उनकी बात उनके ही इलाके में जीवंत हो कर सामने आयी है. यहाँ धर्मांतरण का जहर कुछ यूं असर कर चूका है की उसका परिवार ही जो पूरी तरह से ईसाई बन चूका है उसको मार डालने पर आमादा है पर वो भी पूरी दृढ़ता से चट्टान की तरह अकेले ही लड़ रही है की भले ही वो मर जाए पर हिंदुत्व को त्याग नहीं सकती ..


मामला उन्नाव के गांव मऊ मंसूरपुर का है . यहाँ की निवासिनी ने बतया की उसका जेठ सबसे पहले ईसाई बना और उसके बाद अपने भाई को अर्थात उसके पति को ईसाई बना डाला , अब उसके ऊपर और उसके बच्चे पर धर्म त्यागने का दबाव बनाया जा रहा है जिसे ना करने पर उसकी हत्या की पूरी साजिश रची जा रही है . उस वीरांगना का नाम सुषमा देवी है जिसने बुधवार को जिलाधिकारी उन्नाव से मिल कर प्रार्थना पत्र दिया और अपनी जान अपने ही जेठ और पति जो धर्म त्याग चुके हैं , से बचाने की गुहार लगाईं है .  वीरांगना सुषमा ने बताया कि उसका जेठ रघुवीर और जेठानी प्रेमा ही धर्मांतरण की शुरआत उसके घर में की हैं और उन दोनों ने उसके पति को भी गुमराह कर दिया है . अब सारा परिवार मिल कर उस से धर्म त्यागने का दबाव बना रहे हैं और ऐसा न  करने पर उसके साथ मिल कर जबरदस्त मार पीट की जा रही है . 


एक दुधमुहे मासूम बच्चे के साथ SDM श्री कृपा शंकर के कार्यालय में पहुंच सुषमा  देवी ने बताया की उसकी हत्या हो सकती है . उसे बचा लिया जाय क्योंकि उसके विरोध में बड़े बड़े नाम है जो पैसे अदि से भी काफी सुदृढ़ हैं और उनका नेटवर्क काफी मजबूत है . सुषमा उस क्षेत्र की रहने वाली है जहाँ पर धर्मांतरण की खबरे बहुत पहले से ही सरकार के संज्ञान में आती रही हैं  पर तुष्टिकरण की नीति और पूरवर्ती सरकारों की हर कमी में हिंदुत्व की गलती खोजने की आदत ने उन पर कार्यवाही होने नहीं दिया . सुषमा को आशा है कि वर्तमान सरकार में उनके साथ न्याय होगा …  


Share This Post