सुकमा में घायल जवान की मां बोली- मुझे गर्व है अपने बेटे पर

रायपुर : अब आपको बताते है उस जांबाज के बारे में जिसने नक्सलियों के सीने में गोली मारी और अपने कई साथियों की जान बचाई। जी हां, हम बात कर रहे हैं शेर मोहम्मद की। सुकमा हमले में घायल जवान शेर मोहम्मद जो अभी अस्पतला में जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रहा है।

हमले के बाद शेर ने देशवासियों से कहा कि घबराने की जरुरत नहीं है, मैंने भी कई नक्सलियों के सीने में गोली मारी है। उन्होंने बताया कि हमारे जो जवान घायल हुए, उनको कंधे पर उठाकर मोबाइल बंकर में डाला। फिर उनको सीधा बेस हॉस्पिटल लेकर आया। वहां से हमें सीधा हेलिकॉप्टर से यहां लेकर आया गया। मुझे भी कमर और घुटने में चोट लगी है। मशीनगन उनके कमर में लग गई, जिसकी वजह से उन्हें काफी दर्द हो रहा है।

शेर मोहम्मद ने बताया कि उन्हें हमले की कोई सूचना नहीं थी। उन्हें सिर्फ यह बताया गया था कि उन्हें सड़क निर्माण का काम कराना है।यूपी के बुलंदशहर के रहनेवाले शेर मोहम्मद सीआरपीएफ की उस टुकड़ी में थे जिसपर पीपुल्स लिबरेशन ऑफ गुरिल्ला आर्मी के नक्सलियों ने हमला किया था। इस वक्त उनका इलाज रायपुर के अस्पताल में चल रहा है।

वहीं, बुलंदशहर में शेर मोहम्मद की मां मौला ने अपने लाल की सलामती की दुआ मांगी है। मां की इस तड़प के साथ शेर मोहम्मद के गांव के सभी लोग शामिल हैं। सभी की जुबां पर बस यही दुआ है कि शेर मोहम्मद जल्द से स्वस्थ होकर उनके बीच आएं। शेर की मां फरीदा का कहना है कि उन्हें अपने बेटे पर गर्व है। बता दें कि सोमवार को 300 से ज्यादा नक्सलियों ने सीआरपीएफ जवानों पर घात लगाकर फायरिंग की थी, जिसका जवानों ने मुंहतोड़ जवाब दिया था।

Share This Post