Breaking News:

उस परिवार से हमेशा नारा आता था “हिन्दू-मुस्लिम भाई भाई”… धर्मनिरपेक्षता उनके खून में थी.. अब उनकी बेटी भाग गयी अल्ताफ खान के साथ

अलका बाई के परिजन हमेशा कहते थे कि हिन्दू मुस्लिम भाई भाई होते है. वो कहते थे कि वह धर्मनिरपेक्षता को मानते हैं तथा हिन्दू-मुस्लिम नहीं करते. वह अक्सर हिन्दू संगठनों पर उंगली उठाते रहते थे. लेकिन अब उनका सामना वास्तविक मुसलमान अल्ताफ खान से हुआ जिसने उन्हें धर्मनिरपेक्षता की वास्तविक परिभाषा बताई. अल्ताफ उनकी बेटी अलका बाई को लव जिहाद में फंसाकर भगा ले गया तथा उसका धर्मान्तरण करके निकाह कर लिया. अब अलका बाई नजमा बन चुकी है तथा अलका के परिजनों को अब हिन्दू संगठन याद आ रहे हैं.

मामला छतीसगढ़ के रायपुर के पलारी का है. खबर के मुताबिक़, रायपुर के पलारी ब्लॉक के ग्राम गिर्रा की एक युवती का भिलाई के युवक ने धर्म परिवर्तन कर शादी कर ली. सोमवार को युवती के परिजनों ने बलौदाबाजार तहसील कार्यालय में पलारी पुलिस थाना पहुंचकर दो घंटे तक हंगामा किया. युवती को रविवार को पुलिस खुर्सीपार भिलाई से लेकर आई और सोमवार को युवती को एसडीएम के सामने प्रस्तुत किया. युवती के परिजनों ने मामले को लव जिहाद से जोडते हुए पुलिस अफसरों पर लडके के पक्ष के लोगों का साथ देने का आरोप लगाते हुए हंगामा किया. वहीं बजरंग दल, विश्व हिंदू परिषद के पदाधिकारी तथा कार्यकर्ता भी तहसील कार्यालय पहुंचकर पलारी पुलिस अफसरों के सामने नारेबाजी करने लगे तथा अल्ताफ खान पर लव जिहाद का आरोप लगाया.

गिर्रा के दंपती संतोष साहू और गंगोत्री बाई साहू ने बताया कि बेटी अल्का भिलाई खुर्सीपार में मामा के यहां पढ़ाई करती थी. कुछ माह पूर्व खुर्सीपार के अल्ताफ खान ने बेटी को प्रेमजाल में फंसा लिया. अप्रैल में बेटी मामा के घर से भाग गई थी, जिसे धर्मजागरण, रक्षावाहिनी में प्रांत संयोजिका ज्योति शर्मा तथा रिश्तेदारों ने खोजकर वापस पहुंचाया. २ जून को फिर बगैर किसी को बताए बेटी भाग गई. पलारी थाने में २ जून को ही परिजनों ने बेटी के गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई. इसी बीच परिजनों को जानकारी मिली कि अल्ताफ खान तथा उसके रिश्तेदारों ने बेटी का धर्म परिवर्तन करा कर, नजमा नाम रखकर वक्फ बोर्ड कुरूद में निकाह करा दिया. युवती के परिजनों तथा सामाजिक दबाव होने के बाद पुलिस टीम ५ जून को अल्ताफ के घर पहुंची. नहीं मिलने पर १० जून को टीम दोबारा युवक के घर पहुंची, जहां बेटी बरामद हुई. युवती के परिजनों ने उनकी बेटी को वापस कराने की मांग की है.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW