Breaking News:

“सलमान अच्छा टीचर है, कम से कम पढ़ाई में जाति धर्म मत देखो”… कुछ ऐसा ही बोलते थे उस छात्र के परिजन

शिक्षक का कोई जाती-धर्म नहीं होता, शिक्षक शिक्षक होता है. कम से कम शिक्षकों को तो साम्प्रदायिक न बनाओ. सलमान अली एक बहुत अच्छा टीचर है तथा हम तो अपने बच्चे को सलमान अली के पास ही पढ़ने भेजेंगे, चाहे कोई कुछ भी कहे. और उनका बच्चा सलमान अली के पास पढ़ने जाने लगा. उसके बाद सलमान अली ने जो किया उसे जानकर उनके पैरों तले जमीन खिसक गयी लेकिन अब उनके पास सिर्फ पछतावे के अलावा और कोई चारा न था और उनके बच्चे का बचपन कुचला जा चुका था.

छतीसगढ़ के बिलासपुर के गौरेला में एक शर्मसार कर देने वाला मामला सामने आया है. जहां एक शिक्षक सलमान अली पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगा है. ये आरोप किसी और ने नहीं बल्कि उसके ही छात्र ने लगाई है. इतना ही नहीं शिक्षक ने छात्र को धमकी भी थी कि किसी को बताने पर वह उसे परीक्षा में फेल कर देगा और जान से भी मार देगा. इस मामले का खुलासा उस वक्त हुआ जब छात्र स्कूल जाने से घर वालों को मना किया. तो परिजनों के बार-बार पूछने के बाद छात्र ने अपने साथ हुई आपबीती बताई.

खबर के मुताबिक, एक निजी स्कूल के अंग्रेजी के आरोपी शिक्षक सलमान अली जो कि अपने स्कूल के कई छात्रों के साथ यौन शोषण करने का आरोप लगाया गया है. दरअसल आरोपी शिक्षक छात्र को परीक्षा की तैयारी कराने के लिए अपने घर बुलाया हुआ था. छात्र अपने किसी अन्य दोस्त के साथ आरोपी के घर पहुंचा, शिक्षक ने छात्र के दोस्त को किसी काम से बाहर भेज दिया. जिसके बाद दरवाजा बंदकर उसके साथ अश्लीलता करने लगा. छात्र द्वारा विरोध करने पर जान से मारने की धमकी देने लगा. घटना की जानकारी लगने के बाद से परिजनों का होश उड़ा हुआ है, परिजनों ने पूरे मामले की शिकायत गौरेला पुलिस थाने में दर्ज कराई है. परिजनों का कहना है सलमान अली ने शिक्षक का वेश धारण करके उनके बेटे के साथ दरिंदगी की है तथा सलमान अली को फांसी देनी चाहिए.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW