Breaking News:

स्वागत योग्य निर्णय योगी जी का….. शिव यात्रा में केवल धर्म स्वर

हर वर्ष सावन के महीने में लाखों करोड़ों की संख्या में कांवडिये दूर-दूर से आकर गंगा जल से भरी कांवड़ को लेकर भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए पैदल यात्रा करते है और गंगा जल से उनका अभिषेक कर अपने घर वापस आते है। शिव भक्तों द्वारा प्रत्येक सावन मास में चतुर्दशी के दिन लाये हुए गंगा जल से अपने घरों में बने शिव मंदिरों में भगवान शिव का अभिषेक किया जाता है। 
कांवड के द्वारा लाये गए गंगा जल से सृष्टि रूपी शिव की आराधना के लिए किया जाता है। सावन के पावन महीने में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कांवड़ियों को खुश होने का मौका दिया है और कावड़ यात्रा के दौरान डीजे भजन बजाने की अनुमति दे दी है। आपको बता दें कि योगी सरकार ने निर्देश दिया है कि सावन के महीने में चालू होने वाली कावड़ यात्रा में कांवड़ियों को कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए और उसका पूरा इंतजाम होना चाहिए।
साथ ही यह भी ध्यान देना चाहिए कि कांवड़ियों के साथ किसी प्रकार की हुड्दंगाई नहीं होनी चाहिए। गौरतलब है कि अखिलेश सरकार ने 27 जुलाई को पूरे प्रदेश में कांवड़ यात्रा के दौरान डीजे और लाउडस्पीकर के बजाने पर ये कहते हुए रोक लगा दी दी थी कि कांवड़ियों को भजन के लिए डीजे की क्या जरूरत है जिसमे कांवड़ियों द्वारा बिना मतलब का शोर मचाया जाता है जिससे दूसरे लोग परेशान होते हैं।
उत्तर प्रदेश के डीजीपी सुलखान सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ यूपी और उत्तराखंड के अधिकारियों के साथ कांवड़ यात्रा के संबंध में बैठक ली है और आगामी कांवड़ यात्रा को ध्यान में रखते हुए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए जायेगें। आपको बता दें कि यूपी सरकार ने उत्तराखंड सरकार के साथ सुविधाओं की झड़ी लगा दी है। वहीं पर बीजेपी के प्रवक्ता चंद्रमोहन ने योगी सरकार के इस फैसले से कांवड़ियों की यात्रा को सुरक्षित और कठिनाइयों से मुक्त बताया है। उन्होंने कहा कि कांवड़िये कभी हुड़दंग ही नहीं करते थे बल्कि वो शरारत करते थे। 
Share This Post