Breaking News:

मेरठ के गौहत्यारों का चीन से निकला कनेक्शन… पाकिस्तान के बाद अब चीनी लिंक मिलने लगे भारत में छिपे गद्दारों के साथ

गोहत्या के खिलाफ उत्तर प्रदेश सरकार तथा पुलिस के बेहद कड़े रुख के बाद भी मजहबी उन्मादी अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं तथा गोकशी को अंजाम दे रहे हैं. इससे भी बड़ी बात ये है कि अभी तक देश के गद्दारों का कनेक्शन पाकिस्तान से सामने आता था लेकिन अब इनकी पहुँच चीन तक भी हो गयी है. जी हाँ, उत्तर प्रदेश के मेरठ के गौहत्यारों का चीनी कनेक्शन सामने आया है, जिसके बाद न सिर्फ स्थानीय जनता बल्कि पुलिस भी दंग रह गयी है.

खबर के मुताबिक़, यूपी के मेरठ जनपद में चौकी के पास एसपी सिटी ने छापा मारकर मीट का अवैध गोदाम पकड़ा है. गोदाम मालिक समेत आठ आरोपी गिरफ्तार कर लिए गए. मौके से 50-55 क्विंटल गोवंश मीट बरामद किया गया है. मीट शहर में अवैध रूप से बेचने के साथ विदेश भी जा रहा था. पुलिस ने गोदाम सील कर दिया है. एसपी सिटी ने बताया कि मुखबिर ने सूचना दी थी कि आशियाना कॉलोनी के बंद गोदाम में गोवंश का कटान किया जा रहा है. मौके पर छापा मारकर गोदाम मालिक इरफान, अकबर, इमरान, दानिश, साजिद, शरीफ और शहजाद को गिरफ्तार किया गया है. इस मामले में रशीदनगर के वसीम पुत्र ताहिर को भी नामजद किया गया है तथा उसकी तलाश की जा रही है.

पशु चिकित्सकों ने मीट के सैंपल लिए हैं, जो जांच के लिए भेज दिए गए. बरामद मीट को पुलिस ने गोदाम के कर्मचारियों से ही गाड़ियों में भरवाया और उसे जेसीबी से मिट्टी में दबवा दिया. वहीं आरोपी इमरान ने एसपी सिटी को बताया कि कई माह से वह गोदाम चला रहा था. इसमें करीब 15 मजदूर जुड़े हुए हैं. मृत जानवरों के अलावा अन्य स्थानों से मीट यहां लाया जाता था और उसके बाद पैकिंग कर शहर में होटल और लिसाड़ी गेट में ढाबों में भेजा जा रहा था. सीओ दिनेश शुक्ला के अनुसार आरोपियों ने बताया कि जब भी मीट 50 से 60 क्विंटल एकत्र हो जाता था और शहर में आपूर्ति नहीं की जाती थी तो पैकिंग करने के बाद यहां से मीट विदेश भेज दिया जाता था. सीओ के अनुसार आरोपियों ने मीट चीन को एक्सपोर्ट करने की बात कही है. उनके पास एक्सपोर्ट लाइसेंस नहीं मिला है.

Share This Post