योगीराज में अपराधियों का ताण्डव.. इंस्पेक्टर का गला रेता

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सुधर जाने की चेतानी दिए जाने के बावजूद कुछ आरोपी ऐसे हैं जिन्हें इस चेतावनी का बिल्कुल भी डर नहीं है। योगी के चेतावनी दिए जाने के बावजूद कुछ अपराधी ऐसे हैं जो खुलआम उत्पात मचा रहे हैं। मंडावर थाना अंतर्गत बालावाली चौकी इंचार्ज सहजोर सिंह की कुछ अपराधियों ने गला काटकर हत्या कर दी। इस घटना की सूचना मिलने के बाद पूरे पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। जहां सहजोर सिंह की हत्या हुई वह खादर का इलाका थाने से लगभग 8 किमी दूर है। 
इसके पास ही बालावाली गंगा पुल बिजनौर और हरिद्वार को जोड़ने वाला पुल है। अंग्रेजों के जमाने के इस पुल पर बस और ट्रक को छोड़कर बाकी वाहनों के लिए यातायात कुछ समय पूर्व ही शुरू किया गया है। गंगा के रेत का खनन यहां से होता है। ऐसी आशंका जताई जा रह है कि इस हत्या के पीछे खनन माफिया का हाथ हो सकता है। जानकारी के मुताबकि, सहजोर सिंह मंडावर थाने में कुछ जरूरी कागजात जमा करने के लिए रवाना हुए थे, उन्हें शाम को मंडावर में ही देखा गया था। लेकिन रात में मूंजी में पानी लगाने ट्यूबवैल जा रहे ग्रामीणों ने उन्हें कांच की फैक्ट्री से 200 मीटर दूर खेत में पड़ा देखा। 
जिसके बाद उन्होंने तुरंत ही इसकी सूचना थाने के उच्चाधिकारियों को दी। सूचना पाकर तुरंत ही जिला मुख्यालय से जिलाधिकारी जगतराज त्रिपाठी और पुलिस अधीक्षक अतुल शर्मा समेत कई अन्य अधिकारी तुरंत ही मौके के लिए रवाना हो गए। अधिकारियों ने देखा ने सहजोर सिंह लहुलुहान पड़े हैं और उनकी बाइक सड़क पर मंडावर रोड पर पड़ी हुई है। इसके साथ ही उनकी सर्विस पिस्टल भी वहां से गायब थी, ऐसा अंदाजा लगाया जा रहा है कि हत्यारे पिस्टल भी ले गए। फिलहाल, पुलिस ने छानबीन शुरू कर दी है। 
Share This Post