मासूम बच्चों को भी ना छोड़ा चर्च के साजी जोसेफ ने. पुलिस कर रही तलाश….

जब एक मार्गदर्शक खुद ही अपने मार्ग से भटक जाये, फिर वो किसी और को अच्छे मार्ग का दर्शन कैसे करा सकता है। ये पहली बार नहीं है जब कोई मार्गदर्शक अपना मार्ग भूलकर अपने धर्म की आड़ में बच्चों को अपनी हवश का शिकार बनाता हो। जी हां, ये घटना कोलकता की है जहां एक पादरी ने अपनी हवस की भूख मिटाने के लिए बच्चों का यौन शोषण करता था। बच्चों के यौन शोषण के आरोप में उस व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया।

मनोरमा की रिपोर्ट के मुताबिक, आरोपी की पहचान कुट्टीयूर में रहने वाले फादर साजी जोसेफ के रूप में हुई है। जोसेफ पिछले तीन दिनों से मामले में फरार चल रहा था। इसके बाद केरल पुलिस ने उसे पकड़ने के लिए कई जगहों पर छापेमारी भी की थी। जोसेफ पर आरोप हैं कि उसने मीनानगढ़ी के सेंट विंसेंट बालभवन में नाबालिग बच्चों को अपनी हवस का शिकार बनाया है। बताया जाता है कि उसने गर्मियों की छुट्टियों में बच्चों का यौन शोषण किया। जोसेफ की करतूतों का पर्दाफाश एक बच्चों की बहादुरी से हुआ।

उसने अपने माता-पिता को बताया कि फादर ने उसके साथ क्या हरकतें की। इसके बाद जांच शुरू हुई तो खुलासा हुआ कि फादर जोसेफ ने बाकी बच्चों के साथ भी अश्लील हरकतें की है। बच्चे की शिकायत पर मामला दर्ज हुआ और जोसेफ पर पोकसो के तहत मामला दर्ज किया गया। बता दें कि इससे पहले इसी साल 28 फरवरी को सेंट सेबेस्टियन चर्च कोट्टियूर के फादर रॉबिन को भी यौन शोषण के आरोपों में गिरफ्तार किया गया था। फादर रॉबिन के बारे में तब खुलासा हुआ जब यौन शोषण की शिकार एक लड़की ने बच्चे को जन्म दिया। इसके बाद रॉबिन का नाम सामने आया और बवाल हुआ।

Share This Post

Leave a Reply