मानवता सदा राजनीति से ऊपर थी और इसे सही साबित किया मुख्यमंत्री ने

सीएम योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश के लोगों के लिए एक मसीहा बन गए हैं। जी हां सीएम योगी ने बिमारी से पीड़ित गरीब लोगों को नई सौगात दी हैं। उन्होंने बिमारी से पीड़ित लोगों के उपचार के लिए उनके खाते में पैसे डालवाए हैं।

आपको बता दे कि उन्नाव के पुरवा निवासी सोनू शुक्ला थ्रोमोसिस नाम की एक गंभीर बीमारी से पी‌ड़िुत हैं। र‌विवार का दिन सोनू ही नहीं पूरे गांव के लिंये एक उम्मीद की किरण लेकर आया।

गांव पहुंचे यूपी के सीएम ने सोनू को एक ऐसी सौगात दी ‌जिसके बाद उसकी खुशी का ठिंकाना ही नहीं रहा।
थ्रोमोसिस से पीड़ित सोनू शुक्ला को बेहतर उपचार के लिए योगी सरकार ने पहल की है। सोनू बेहतर उपचार के लिए प्रदेश सरकार को पिछले चार साल से पत्र लिख रहे थे। उन्हें मदद नहीं मिल पाई थी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोनू के पत्र का जवाब देते हुए उपचार में मदद का भरोसा दिया है।
थ्रोमोसिस से राहत के लिए सरकार ने सोनू को पहली किस्त में तीस हजार रुपये दिए हैं।

पुरवा के बैगांव निवासी सोनू शुक्ला मुंबई में शिरडी मंदिर परिसर में प्रसाद की दुकान चलाते थे। 2011 में उन्हें दाएं पैर में असहनीय दर्द हुआ। मुंबई में डाक्टर ने एक ऐसी बीमारी जिसमें नसों में खून जम जाता है से पीड़ित बताया ।
बता दे कि मुंबई में एक साल तक चले उपचार में सोनू को दुकान बेचनी पड़ी। इलाज में फायदा न होने पर वह परिवार के साथ गांव लौट आए। यहां वह चार साल से बीमारी से राहत पाने की कोशिश कर रहे हैं।

इस दौरान सारी जमा पूंजी खर्च हो गई। 2015 में बीमारी बढ़ने पर डॉक्टर ने दायां पैर काट दिया था।

सरकार से इलाज में मदद के लिए 2013 में मुख्यमंत्री को पत्र लिखा था। लेकिन मदद नहीं मिली। तब से वह लगातार पत्र लिख रहे हैं। तीन दिन पूर्व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की ओर से इलाज में आर्थिक मदद का आश्वासन मिला। सरकार ने इलाज के लिए कानपुर मेडिकल कालेज के खाते में तीस हजार रुपये भेज दिए हैं।

Share This Post