Breaking News:

चंदौली में सीएम योगी बोले- बाबा कीनाराम की जन्मस्थली बनेगी पर्यटन केंद्र

चंदौली / उत्तर प्रदेश

अघोरेश्वर बाबा कीनाराम की जन्मस्थली पर पहली बार सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ दोपहर 3:54 बजे वहां पहुंचे तो हर हर महादेव के नारों के बीच उनका जनता ने जोरदार स्वागत किया।

 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार की दोपहर चंदौली जिले के रामगढ़ स्थित बाबा कीनाराम के 420 वें जन्मोत्सव कार्यक्रम में शामिल होने के लिए पहुंचे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यहां पहुंचने के बाद बाबा कीनाराम का दर्शन पूजन किया। उसके बाद विचार गोष्ठी में उन्होंने कहा कि शिव की परंपरा ही अघोर परंपरा है।

अघोर परंपरा की धरोहर बाबा कीनाराम की जन्मस्थली को पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित किया जाएगा। जन्मोत्सव के इस कार्यक्रम में शहीद चंदन राय के पिता सत्य प्रकाश राय और मां लीलावती देवी को मुख्यमंत्री ने अंगवस्त्रम भेंट किए।अघोरेश्वर बाबा कीनाराम की जन्मस्थली पर पहली बार सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ दोपहर 3:54 बजे वहां पहुंचे तो हर हर महादेव के नारों के बीच उनका जनता ने जोरदार स्वागत किया।

मौके पर मौजूद दर्शनार्थियों से सीएम योगी ने करीब 25 मिनट तक संवाद किया। उन्होंने वहां मौजूद लोगों की सराहना की और कहा कि लगभग 16 सत्रह पीढ़ियों का कालखंड गुजरने के बाद भी उनकी स्मृतियां लोगों के मन में हैं।

उन्होंने आजादी के आंदोलन के दौर पर रोशनी डालते हुए कहा कि आजादी नजदीक जब आ रही थी तो कुछ लोग देश को अलग-अलग कई देशों में बांटना चाहते थे, उनमें कम्युनिस्ट प्रमुख थे लेकिन संतों ने देश को एक सूत्र में पिरोने का काम किया।

सीएम योगी ने कहा कि कम्युनिस्टों के गढ़ केरल से आदि शंकराचार्य निकले और देश के चारों कोनों में चार पीठों की स्थापना की। उन्होंने आगे कहा कि यह राष्ट्र के तीर्थ हैं, जहां जाति-मत-समुदाय नहीं है। बाबा का जन्म सिर्फ कल्याण के लिए हुआ।

धर्मस्थल देश की एकात्मकता के स्थल हैं, जब देश संकट में होता है तब जाति भाषा रंग रूप एक साथ होता है। मुख्यमंत्री ने बाबा कीनाराम के बारे में कहा कि उन्होंने विश्व को योग के बारे में बताया। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जिसके लिए कुछ कठिन नहीं होता वही अघोर है, शिव की परंपरा ही अघोर परंपरा है।

वेब जर्नलिस्ट 

प्रशांत सिंह 

92649 15248

 

विडियो देखे 👇

 

Share This Post