वट सावित्री वृक्ष को घोषित कर दिया अपनी जमीन और लगाने लगे उन्मादी नारे.. पूजा करने गये भाजपा नेता पर चरमपंथियों का हमला

उत्तर प्रदेश का बहराइच मजहबी उन्मादियों के आतंक से उस समय दहल उठा जब प्राचीन सनातनी धार्मिक स्थल वट सावित्री वृक्ष पर पूजा करने गए लोगों को मुस्लिम समुदाय के लोगों ने ये कहकर रोक दिया कि ये स्थान उनका है. हिन्दुओं ने इसका विरोध किया तो उन्मादियों ने अचानक से हमला कर दिया तथा कश्मीरी अंदाज में पत्थरबाजी शुरू कर दी. उन्मादियों के इस हमले में भाजपा बूथ अध्यक्ष मूलचन्द्र सहित तकरीबन आधा दर्जन लोग बुरी तरह घायल हो गये. सूचना पर भारी संख्या में पुलिस बल पहुंचा तथा जैसे तैसे स्थिति को नियंत्रित किया.

घटना बहराइच के थाना फखरपुर क्षेत्र के कुड़ास पारा गांव की है. बताया गया है कि गाँव में स्थित प्राचीन सावित्री वट पूजा स्थल पर गांव के लोग काफी अर्से से पूजा अर्चना व कथा पाठ करते हैं. ग्रामीणों का आरोप है कि कब्जेदारी की नीयत से गांव के विशेष समुदाय के लोग धर्मस्थल पर प्रतिबन्धित जानवरों के अवशेष फेंकने के साथ ही धार्मिक स्थल पर मैला फेंकने का काम करते हैं. ग्रामीणों का कहना है कि कुछ दिन पूर्व समुदाय विशेष के लोगों ने देव स्थान पर कब्जा करने का प्रयास किया. इसके विरोध में गांव के रमेश, हंसराम, रामप्रताप, मुंशीराम समेत अन्य ग्रामीणों ने पुलिस काे प्रार्थना पत्र दिया, लेकिन पुलिस ने कभी इस मामले में सक्रियता नहीं दिखाई, जिसके कारण उन्मादियों के हौसले बढ़ते ही चले गये.

गुरुवार को लोग हिन्दू समाज के लोग साफ-सफाई के साथ पूजा करने गए थे. इसी दौरान दूसरे समुदाय के लोगों ने पूजा करने से रोक दिया तथा पथराव शुरू कर दिया. इसमें भाजपा के बूथ अध्यक्ष मूलचंद, विवेक समेत करीब आधा दर्जन लोग घायल हाे गए. मामले की गम्भीरता को देखते हुए बहराइच के SP डॉ. गौरव ग्रोवर ने मौके पर पुलिस व PAC तैनात कर दी है. वहीं गांव में साम्प्रदायिक माहौल को बिगाड़ने वाले कई अराजक तत्वों के खिलाफ FIR दर्ज कर आरोपियों की गिरफ्तारी के आदेश दिए हैं.

Share This Post