जहाँ बनना था मंदिर वहां घोषित कर दी ईदगाह… एक और अयोध्या जैसी दुविधा बिजनौर में

जहाँ मंदिर बना हुआ था, कुछ उन्मादी वहां जबरदस्ती मस्जिद्द बनाने पर आमादा थे. बिल्कुल उसी अंदाज में, जिस तरह से अयोध्या में श्रीराम मंदिर की जगह बाबरी बनाई गयी थी. और जब हिन्दू समाज के लोगों ने इसका विरोध किया तो उन पर हमला किया गया. मामला उत्तर प्रदेश के बिजनौर का है जहाँ के माँ चामुंडा के मंदिर को एक तरह अयोध्या श्रीराम मंदिर मामले की तरह उलझाने का प्रयास किया गया. इसके बाद क्षेत्र में भारी सांप्रदायिक तनाव व्याप्त हो गया.

खबर के मुताबिक़, बिजनौर के गांव इलाहबास स्थित चामुंडा मंदिर पर दो दिन से अखंड पाठ चल रहा है. गुरुवार को आंधी -बारिश के चलते हिंदू समाज के लोगों ने चारदीवारी निर्माण कर तिरपाल आदि डालने का प्रयास किया. शुक्रवार सुबह मुस्लिम समाज के लोग ग्राम प्रधान अबरार अहमद को लेकर मंदिर पर पहुंचे और निर्माण का विरोध किया. हिन्दू समाज के लोगों ने समझाया कि वो मंदिर की जहा पर निर्माण कर रहे हैं तो मुस्लिम समुदाय के लोगों ने मंदिर की जगह को ईदगाह घोषित कर दिया. इसके बाद दोनों पक्षों में वाद विवाद शुरू हो गया.

थोद्दी देर बाद मुस्लिम संप्रदाय के लोगों ने भी ईदगाह निर्माण के लिए खोदाई शुरू कर दी. सूचना पर धामपुर एसडीएम वीरेन्द्र कुमार मौर्य, सीओ महावीर ङ्क्षसह पर पहुंचे. आरोप है कि इसी दौरान पुलिस ने मंदिर की नवनिर्मित दीवार गिरा दी. ग्रामीणों ने विरोध किया तो पुलिस ने ग्रामीणों को पीटा. इसके बाद तनावग्रस्त हो गयी. मौके पर पहुंचे एसपी उमेश कुमार ने हालात पर काबू पाया. स्थिति नियंत्रित होने तक क्षेत्र में पुलिस बल को भेई तैनात करना पड़ा था.

Share This Post

Leave a Reply