बहन की रक्षा हेतु बलिदान हुए सचिन-गौरव की पुण्यतिथि के दिन फिर वही हरकत दोहरा रहा था ज़की.. मुज़फ्फरनगर अशांत करने की थी साज़िश


चार साल पहले हुई वारदात को इस बार फिर से दोहराया गया और पिछली बार की तरह इस घटना ने भी भयानक रूप ले लिया जिसमे लोगो को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा। छेड़छाड़ को लेकर चार साल पहले कवाल में हुए बवाल ने सचिन -गौरव को मौत के घाट उतार दिया था जिसकी पुण्यतिथि सोमवार को बलिदान दिवस के नाम से मनाई गई। तो दूसरी ओर छेड़छाड़ के पुराने मामले को लेकर टिप्पणी करने पर दो संप्रदाय के लोग आमने-सामने आ गए।

बता दे कि भटौड़ा गांव निवासी जकी पुत्र नजमूल बाइक पर बहन को लेकर सिखेड़ा से घर लौट रहा था तभी गांव के बाहर मोघपुर निवासी उत्तम व प्रिंस ने जकी को रोक लिया और कमेंट करने लगा। अपनी बहन से छेड़छाड़ कर रहे युवको से नजमुल का विवाद बढ़ा और नजूल ने अपने परिजन को फोन कर बुला लिया। परिजनों के साथ ग्रामीणों को आता देख उत्तम व प्रिंस ने भी कुछ युवकों को बुला लिया और विवाद को भड़ता देख उत्तम, प्रिंस व उनके साथी बाइक छोड़कर भाग निकले।
भागते हुए इन युवको ने फायरिंग शुरू कर दी जिसमे टौड़ा गांव निवासी सुरेंद्र को लगी और वह गंभीर घायल हो गया। यह मामले तूल पकड़ने लगा और क्षुब्ध लोगों ने तीन बाइकों को आग के हवाले कर दिया। सुचना मिलने पर एसपी सिटी मणीलाल पाटीदार मौकाए वारदात पर पुलिस फ़ोर्स के साथ पहुंचे और पुलिस फ़ोर्स ने स्तिथि को संभाल लिया। नजमूल ने उत्तम व ङ्क्षप्रस को नामजद और आठ-दस अज्ञात युवकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस की कार्यवाही चल रही है बहुत जल्द ही अपराधियों को हिरासत में ले लिया जाएगा। 

सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...