Breaking News:

फोन पर दिया तीन तलाक.. बीवी ने याद दिलाया क़ानून तो बोला- “Sorry” गलती हो गई

सलाउद्दीन लगातार अपनी ससुराल से दहेज़ में कुछ न कुछ माँगता रहा. ससुराल वालों ने उसकी हर मांग को पूरी करने की कोशिश भी की. लेकिन सलाउद्दीन की मांगें रुकने का नाम ही नहीं ले रही थी. जब सलाउद्दीन की ससुराल वाले उसकी और मांगें पूरी नहीं कर सके तो सलाउद्दीन ने अपनी सास को फोन पर लिखकर भेज दिया कि उसने उनकी बेटी अर्थात उसकी बीवी को तीन तलाक दे दिया है. खबर मिलने पर जैसे ही बीवी ने उसे तीन तलाक पर बना कानून याद दिलाया तो वह माफी मांगने लगा. अब बीवी का कहना है कि वह फिर भी कार्यवाई चाहती है ताकि भविष्य में भी सलाउद्दीन ऐसा न कर सके.

3 तालक पीड़िता इससे पहले पहुंचती पुलिस के पास, उससे पहले पहुंच गया शौहर उसके पास और बोला- “घर चलो, थाने नहीं”

मामला हरियाणा के मेवात जिले का है. गुरुवार को इस मामले में जिला के नगीना पुलिस थाने में एक शिकायत दी गई थी और देर रात मुस्लिम महिला संरक्षण कानून की धारा 4, धमकी देने की धारा 506 के तहत केस दर्ज हुआ. पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक खेडली नूंह निवासी साजिदा की शादी करीब दो साल पहले पिनगवां के ढाढोली निवासी सलाउद्दीन के साथ हुई थी. शादी के बाद से ही उसका पति उसे दहेज के लिए परेशान करने लगा. जिससे तंग आकर उसने अपने पति व उसके परिवार वालों के खिलाफ  दहेज मांगने व मारपीट करने का केस दर्ज करा दिया.

दलित लड़कियां उसके निशाने पर थीं.. उसके हाथ में कलावा होता था और फिर होता था बलात्कार

इसी बात से चिढ़कर आरोपित ने लड़की की मां को फोन कर कहा कि उसने साजिदा को तीन बार तलाक बोलते हुए तलाक दे दिया है. अब वे अपनी लड़की को उसके पास न भेजें. इसके बाद पीड़िता ने अपने शौहर के खिलाफ तीन तलाक के खिलाफ मामला दर्ज करा दिया. शिकायत पर पुलिस ने आरोपित के खिलाफ  मुस्लिम वुमन प्रोटेक्शन ऑफ राईट्स ऑन मैरिज एक्ट 2019 की धारा 4 तथा आईपीसी की धारा 506 के तहत केस दर्ज कर लिया. केस दर्ज होने के बाद सलाउद्दीन का कहना है कि वह पत्नी को रखने के लिए तैयार है, उससे गलती हो गई थी.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW