गिलानी के घर मिला वो सबकुछ जो अपने आप में है कश्मीर के आतंक की गवाही…

आतंकी फंडिंग की जांच कर रही एनआईए को जम्मू-कश्मीर में बड़े अलगाववादी नेताओं की हिंसा फैलाने में अहम भूमिका के सबूत मिले, जिसमें एजेंसीयों ने छापेमारी में हुर्रियत नेता सैयद अली शाह गिलानी का हस्ताक्षर किया हुआ कैलेंडर मिला था उसमें सुरक्षाबलों और सेना के खिलाफ धरना प्रदर्शन और हिंसा फैलाने के सभी कागजात मिले है। ये कैलेंडर अलगाववादी नेता अल्ताफ शाह फंटूश के घर से बरामद हुआ। कैलेंडर में सुरक्षाबलों के खिलाफ धरना प्रदर्शन करने से लेकर कश्मीर में लोगों को भड़काने तक का पूरा खाका बरामद हुआ है। बताया जा रहा है कि ये कैलेंडर अगस्त 2016 का है।

वहीं, एनआईए जांच एजेंसी कई कड़ियों को जोड़कर जांच आगे बढ़ा रही है। अलगाववादी नेताओं के घर से मिले कैलेंडर से अलगाववादियों का असली चेहरा सामने आ गया है। सूत्रों का कहना है कि घाटी में अस्थिरता पैदा करने वाले और कश्मीर में बड़ी हिंसा को अंजाम देने की अलगाववादियों की पूरी साजिश का खुलासा करने में एनआईए जुटी हुई है। पकड़े गए अलगाववादी नेताओं से कई ऐसी जानकारियां भी मिली हैं, जिससे पता चलता है कि अलगाववादी गुट और आतंकी समूह मिलकर पाकिस्तान के नापाक मंसूबों में हर तरह की मदद कर रहे थे जिससे भारत में आंतक फैलाया जा सके और भारत को अंदर से खोखला कर सके। लेकिन इस प्लान को भारत के ख़ुफ़िया एजेंसी ने बर्बाद कर दिया।
आपको बताते है कि क्या है उस कैलेंडर में जो एनआईए को मिला है-
4 अगस्त 2016 को सेना और सुरक्षाबलों के खिलाफ धरना प्रदर्शन करने को कहा गया
6 अगस्त 2016 को लोगों से अलग-अलग जगह पर इकट्ठा होने, धरना प्रदर्शन की अपील
8 अगस्त 2016 को श्रीनगर की ओर जाने वाली सभी सड़कों को ब्लॉक करना और लोगों को ड्यूटी ज्वाइन करने से रोकना, सभी को फोनकर इस बात का दबाव बनाना कि वे अपने दफ्तर न जाएं।
9 अगस्त 2016 को औरतों से अपील की गई कि वह प्रदर्शन में शामिल हों और जगह-जगह इस्लामिक और आजादी के गाने मस्जिदों से बजाए जाएं
10 अगस्त 2016 जम्मू कश्मीर में तैनात सभी सुरक्षाबलों को पत्र देकर कहा जाए कि वे यहां से वापस जाएं
11 अगस्त 2016 कश्मीर में सभी भारत समर्थित राजनेताओं और सरपंचों से यह कहा जाए कि वे अपने पदों से त्यागपत्र दें और अपने-अपने दरवाजों पर त्यागपत्र की कॉपी चिपकाएं।
12 अगस्त 2016 आजादी के समर्थन में सभी इमाम को यह कहा गया कि मस्जिदों में लोगों को आजादी के लिए जागरूक करें और मस्जिद के दरवाजे पर आजादी के पोस्टर चिपका कर रखें
13 अगस्त 2016 काले झंडे लेकर प्रदर्शन में शामिल हों
14 अगस्त 2016 पाकिस्तान दिवस के दिन पाकिस्तान के लिए विशेष कार्यक्रम किए जाएं, नमाज अता की जाएं और हर मस्जिद में पूरे दिन आजादी के गाने बजाए जाएं
15 अगस्त 2016 जम्मू कश्मीर में काला दिवस मनाया जाए, अपने घरों के ऊपर भी काले झंडे रखें। दुकान, बाजार और हर चौराहे पर काले झंडे लगाए जाएं
16 अगस्त औरतें प्रदर्शन में शामिल हों।
Share This Post

Leave a Reply