शुरू हुआ मुख्यमंत्रियों की धरना पॉलिटिक्स का नया ट्रेंड .. ममता, नायडू के बाद अब कांग्रेस का मुख्यमंत्री बैठा धरने पर

अभी तक विपक्षी राजनैतिक दल सत्ता के खिलाफ धरना प्रदर्शन करते थे लेकिन अब देश में एक नया ट्रेंड शुरू हुआ है जब विपक्ष नहीं बल्कि सत्ता ही धरना प्रदर्शन कर रही है. ये ट्रेंड दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुरू किया था जब वह दिल्ली के उपराज्यपाल के खिलाफ धरने पर बैठ गये. अरविंद केजरीवाल के धरने से न सिर्फ दिल्ली बल्कि पूरा देश चौंक गया था कि मुख्यमंत्री का काम धरना करना नहीं होता बल्कि काम करना होता है. लेकिन वो इसी बात के तो अरविंद केजरीवाल हैं कि वह राजनीति के लिए कुछ भी कर सकते हैं.

धरना पॉलिटिक्स को एक कदम और आगे बढ़ाया पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने जब वह शारदा चिटफंड घोटाले की सीबीआई जांच मामले को लेकर धरने पर बैठ गई. इसके बाद आन्ध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चन्द्रबाबू नायडू ने दिल्ली में आकर धरना दिया. अभी देश इन धरनों से उबरा भी नहीं था कि अब कांग्रेस शासित एक राज्य का मुख्यमंत्री धरने पर बैठ गया हैं. जी हाँ, आपको बता दें कि केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी के मुख्यमंत्री नारायणस्वामी अपने मंत्रियों के साथ राज निवास के सामने धरने पर कल से ही धरने पर हैं. मुख्यमंत्री नारायणस्वामी ये धरना उपराज्यपाल किरण बेदी के खिलाफ दे रहे हैं.

सीएम का आरोप है कि विभिन्न मामलों पर उनकी स्वीकृति के लिए भेजी गईं फाइलों को उपराज्यपाल ने खारिज कर दिया है. सीएम नारायणसामी का कहना है कि उपराज्यपाल अपनी शक्तियों का दुरूपयोग कर रही हैं. बताया जा रहा है कि इस धरने की वजह से उपराज्यपाल किरण बेदी राजनिवास से बाहर नहीं निकल पा रही हैं. उन्होंने इस बारे में सीएम नारायणसामी को एक चिट्ठी लिखी है., जिसे ट्विटर पर शेयर भी किया है. किरण बेदी ने लिखा- ‘आपको धरने पर बैठने के बजाय मिलना चाहिए था. आप एक पत्र लिखते और राजनिवास की नाकाबंदी से पहले मेरे जवाब का इंतजार करते. इस नाकेबंदी के कारण आम जनता को भारी असुविधा हो रही है.’  किरण बेदी ने कहा, ‘जब सीएम उपराज्यपाल को पत्र भेजते हैं और एक सप्ताह के भीतर राजनिवास के बाहर धरना/ नाकाबंदी के बल पर जवाब मांगते हैं, तो दुःख होता है.’ उपराज्यपाल की इस चिट्ठी के बाद भी सीएम नारायणसामी और उनके मंत्रियों ने धरना खत्म करने से इनकार कर दिया. उनका कहना है कि जब तक पेंडिंग फाइलें रिलीज नहीं की जाती, ये धरना जारी रहेगा.

Share This Post