नरेश अग्रवाल के जहरीले भाषण पर ताली पीट रहे कांग्रेसियों को दिक्कत है राष्ट्रपति के भाषण से…


राष्ट्रपति चुनाव में मिली हार के बाद बौखलाई कांग्रेस कुछ भी बयान बाजी कर केंद्र सरकार के साथ-साथ राष्ट्रपति रामनाथ कोबिंद पर आरोप लगा रही है। कांग्रेस जो आरोप लगा रही है जिसका कोई वजूद नहीं है। अपनी अंतरात्मा को सुनने की आजादी सबके पास है, लेकिन कांग्रेस इसको गलत बता झूठा आरोप लगाती रही है। यहां तक की राज्यसभा में भी कांग्रेस ने हंगामा मचाया। हंगामे के बाद अरुण जटेली ने कांग्रेस पर हमला किया।

संसद के उच्च सदन राज्यसभा में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के शपथ ग्रहण समारोह में दिए भाषण पर जमकर हंगामा हुआ। हंगामे की वजह से राज्यसभा को स्थगित करना पड़ा। राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा और सत्ताधारी दल बीजेपी के नेताओं में बहस भी हुई। राष्ट्रपति के भाषण पर हंगामा करते हुए कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय की महात्मा गांधी से गलत तुलना की गई है। इसके अलावा कांग्रेसी नेताओं ने जवाहरलाल नेहरू और इंदिरा गांधी का नाम न लेने पर भी सवाल उठाए।
आनंद शर्मा के सवाल उठाने के बाद अरुण जेटली ने कांग्रेस पर पलटवार किया। अरुण जेटली ने कहा कि ऐसा कैसे हो सकता है कि कोई संसद सदस्य राष्ट्रपति के भाषण पर सवाल उठाए। उन्होंने आनंद शर्मा के बयान को हटाने की मांग की। राज्यसभा में इसके बाद हंगामा हो गया और कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी। राज्यसभा की कार्यवाही समाप्त होने के बाद कपिल सिब्बल ने पत्रकारों से कहा कि ये सरकार इतिहास को बदलने की कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी की किसी से भी तुलना नहीं की जा सकती। अगर ऐसा किया जा रहा है, तो वो गलत है।

सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share