Breaking News:

केरल सिर्फ हिन्दुओं का ही नहीं अधिकारियों का भी नर्क बन रहा … वामपंथी विधायक ने महिला अधिकारी के साथ की बदतमीजी


केरल आजकल कभी लव जिहाद का तो कभी हिन्दुओं की हत्या को लेकर सुर्खियों में छाया हुआ है। माकपा पार्टी मदद करने की बजाय वहां के माहौल को और अव्यवस्तिथ कर रही है। बता दें कि माकपा एक कम्युनिस्ट पार्टी है और आज वही माकपा के विधायक ने एक महिला डिप्टी कलेक्टर का अपमान कर पुलिस व्यवस्था का अपमान किया है। कानून के काम में मदद करने की बजाय सत्तारूढ़ माकपा विधायक ने तो हद ही कर दी है। पहले हिन्दुओं का कत्ल और अब अधिकारियों का अपमान आखिर केरल में ये हो क्या रहा है ?

बता दें कि केरल के परस्सला कस्बे में दुर्घटना में मारे गए दो कर्मचारियों के परिवारों के लिए मुआवजा की मांग करने के लिए लोग वहां प्रदर्शन कर रहे थे इस बात की जानकारी मिलते ही पुलिस वहां पहुंचकर मामला शांत करा रही थी क्योंकि लोगों ने रोड ब्लॉक कर रखी थी जिससे बाकि लोगों को परेशानी हो रही थी। डिप्टी कलेक्टर एसजे विजया जब प्रदर्शन को खत्म कर रोड ब्लॉक खत्म कराने के लिए मौके पर पहुंची तब माकपा विधायक हरींद्रन ने डिप्टी कलेक्टर पर चिल्ला कर उनसे मुआवजे की रकम की मांग की ऐसा करके उन्होंने सजे विजया का अपमान किया। वामपंथियों को लगता है कानून व्यवस्था पर उंगली उठाना और उसका अपमान करना ही आता है तभी तो अधिकारी से विधायक हरींद्रन ने बतमीजी से बात की।
बता दें कि महिला डिप्टी कलेक्टर के अपमान से विभिन्न समूह नाराज हुए और वामपंथी विधायक के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया। अपने खिलाफ प्रदर्शन होता देख विधायक हरींद्रन ने एक टीवी चैनल से कहा कि , ”यदि मेरे किसी शब्द से अधिकारी को तकलीफ पहुंची है, तो मैं माफी मांगता हूं।” मामला तूल पकड़ता देख विधायक ने महिला डिप्टी कलेक्टर से माफ़ी मांगना ठीक समझा। इतना ही नहीं केरल महिला आयोग ने विधायक से सफाई मांगी है। महिला डिप्टी कलेक्टर का अपमान कर विधायक हरींद्रन ने अपने पैरों पर कुल्हाड़ी मार ली है। अभी भी लोगों का गुस्सा शांत नहीं हो रहा है जिसके चलते विपक्ष ने भी हरींद्रन के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज करने की मांग की है। 


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share