नदीम के आतंक से घर छोड़कर भाग रहे दलित परिवार… ध्वस्त हुई तमाम चुनावी बातें


पिछले कुछ समय से देश की राजनीति में “दलित मुस्लिम एकता” की बड़ी-2 बातें की जा रही हैं तथा “जय भीम जय मीम” का नया नारा निकाल कर आया है. तथाकथित सेक्यूलर नेता दलित मुस्लिम एकता के जरिये भारतीय जनता पार्टी तथा प्रधानमन्त्री श्री नरेंद्र मोदी को पटखनी देने का ख्वाब देख रहे हैं. लेकिन जय भीम जय मीम तथा दलित मुस्लिम एकता की हकीकत क्या है इसकी बानगी उत्तर प्रदेश के मेरठ में देखने को मिली है जहाँ उन्मादी नदीम के आतंक से दलित परिवार अपना घर छोड़कर भागने को मजबूर हो रहे हैं.

खबर के मुताबिक, मेरठ के भावनपुर थाने के हिस्ट्रीशीटर पूर्व पार्षद नदीम के आतंक से थर्राए अनुसूचित जाति के एक परिवार ने गांव से पलायन को मजबूर है. पीडि़त के समर्थन में एसएसपी कार्यालय पर हंगामा करते हुए भाजपाइयों ने आरोपी के खिलाफ कार्यवाही की मांग की, जिसके बाद एसपी देहात ने कड़ी कार्यवाही का आश्वासन दिया है. भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के अध्यक्ष राजकुमार सोनकर के साथ दर्जनों भाजपा कार्यकर्ता शक्रवार को एसएसपी कार्यालय पहुंचे. भाजपाइयों के साथ आए अब्दुल्लापुर निवासी संदीप खटीक ने बताया कि वह कारों की सेल-पर्चेज का काम करता है. संदीप ने आरोप लगाया कि क्षेत्र का पूर्व पार्षद नदीम मेवाती भूमाफिया के साथ हिस्ट्रीशीटर बदमाश है. संदीप के मुताबिक उसने सरकारी तालाबों पर कब्जों सहित नदीम के कई अवैध धंधो की शिकायत पुलिस से की थी, जिसके चलते आरोपी से साठगांठ के चलते पूर्व में एक एसओ भी लाइन हाजिर हो चुके हैं.

आरोप है कि इसी रंजिश के चलते बीती 7 अक्तूबर को नदीम व उसके साथियों ने संदीप पर हमला किया था. इस मामले में रिपोर्ट दर्ज कराई गई, लेकिन आरोपी से सेटिंग के चलते भावनपुर पुलिस उसके खिलाफ कार्यवाही नहीं कर रही. संदीप ने आरोप लगाया कि नदीम और उसके गुर्गे उसके परिवार के खात्मे की धमकी दे रहे हैं. धमकियों के चलते वह अपने परिवार के साथ क्षेत्र के पलायन करने को मजबूर हो गया है. एसपी देहात राजेश कुमार ने पीडि़त को सुरक्षा का आश्वासन देते हुए आरोपी की गिरफ्तारी और कुर्की तक का आश्वासन दिया है. उन्होंने बताया कि आरोपी घर से फरार है, उसे किसी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...