लैंड जिहाद के खिलाफ चट्टान की तरह खड़े हुए बीजेपी सांसद.. दावा किया- “दिल्ली में बेतहाशा बढ़ रही हैं मस्जिदें”


मस्जिदों तथा मजारों के नाम पर चल रहे लैंड जिहाद के खिलाफ अब भारतीय जनता पार्टी के एक सांसद तनकर खड़े हो गये हैं. पश्चिमी दिल्ली लोकसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी के सांसद प्रवेश वर्मा ने दावा किया है कि दिल्ली में बेतहाशा तरीके से मस्जिदें बढ़ती जा रही हैं. सांसद प्रवेश वर्मा ने राजधानी के कई हिस्सों में सरकारी जमीन और सड़कों के इर्द गिर्द बने मस्जिदों की वजह से वाहनों के आवागमन में होने वाली परेशानियों का हवाला देते हुए दिल्ली के उप-राज्यपाल से इस मामले में तत्काल कार्रवाई की मांग की है.

जिस लड़की पर ममता बनर्जी ने गिराया था सत्ता का कहर अब उस पर गई मोदी की नजर.. मिला एक शानदार तोहफा

दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल को को लिखे पत्र में प्रवेश वर्मा ने पश्चिमी दिल्ली समेत संपूर्ण दिल्ली में लगातार होने वाले मस्जिदों के निर्माण से पैदा होने वाली समस्या को दूर करने के लिए तत्काल कदम उठाने को जरूरी बताया है. बीजेपी सांसद प्रवेश साहिब सिंह वर्मा ने इस हालात से निपटने के लिए पुलिस की देखरेख में स्थानीय निकायों, जिलाधिकारियों सहित अन्य संबंधित विभागों की एक समिति गठित करने का सुझाव दिया है.

टप्पल की महिलाओं का जीना हराम कर रखा था असलम ने.. सबकी खामोशी टूटी ट्विंकल के बलिदान के बाद

अपने पत्र में उन्होंने लिखा है कि ऐसा देखना में आया है कि सरकारी जमीन, सड़कों, पार्कों और दूसरे अनुसूचित स्थानों का उपयोग मस्जिदों के निर्माण के लिए किया जा रहा है, जिससे आस-पास रहने वाले आम लोगों को असुविधा का सामना करना पड़ रहा है. सांसद प्रवेश साहिब सिंह ने कहा है कि मस्जिदों को बढ़ते निर्माण की जांच होनी चाहिए. इसके लिए उन्होंने एलजी से एक कमेटी गठित करने की मांग की है. प्रवेश साहिब सिंह ने कहा है कि इस कमेटी में एमसीडी, पीडब्ल्यूडी, एनडीएमसी, पुलिस, सिंचाई और बाढ़ नियंत्रण विभाग के प्रतिनिधि शामिल होने चाहिए. साहिब सिंह ने मांग की है कि इस मामले की जांच इलाके के डिस्ट्रिक मजिस्ट्रेट करें.

बलिदान से बदल रहा बंगाल… हिन्दू विरोध का पर्याय बन चुकीं ममता का एक विधायक और 12 पार्षद थाम लिए भगवा ध्वज..

प्रवेश साहिब सिंह का कहना है कि सार्वजनिक जमीनों पर बनें मस्जिदों की वजह से न सिर्फ ट्रैफिक की रफ्तार धीमी होती है, बल्कि लोगों को भी समस्याओं का सामना करना पड़ता है. एलजी को लिखे पत्र में उन्होंने कहा है कि अगर इस समस्या का प्राथमिकता के आधार पर निदान नहीं किया गया तो उनके विचार से ये मामला आगे चलकर मुश्किल पैदा कर सकता है और इसे मैनेज करना मुश्किल हो सकता है. प्रवेश साहिब सिंह ने कहा है कि संबंधित विभाग के अधिकारी जिन इलाकों में मस्जिद बने हैं वहां का सर्वे करें और जिम्मेदार अधिकारियों पर कार्रवाई की जाए.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...