उसे क्या पता था कि विमान की आखिरी उड़ान बन जाएगी जिन्दगी की आखिरी उड़ान….

नई दिल्ली:  आज के समय में सपने पूरे करने में इंसान को बहुत समय लग जाता है लेकिन अगर मेहनत साथ हो तो कुछ भी
नामुम्किन काम मुमकिन हो सकता है। पर जब बहुत मेहनत के बाद भी आखिरी स्टेज पर
मेहनत करने वाला इंसान ही ना रहे तो फिर इस र्दद को कोई नही समझ़ सकता है 

आज की हमारी खबर कुछ ऐसी ही है
जहां पर कामयाबी के आखिरी पायदान पर आकर एक लड़की की मौत हो जाती है

ये खबर है 24 साल की हिमानी की जो कि
हरियाणा के करनाल की रहने वाली थी और कल्याण कमर्शियल पायलट बनने की ट्रेनिंग ले
रही थी और उनके इंस्ट्रक्टर भी उनके साथ था। उनका विमान इतना नीचे उड़ रहा था कि वो
रोप-वे में फंस गया जिस वजह से
विमान में कुछ गड़बडी़ आ गई और जिस वजह से हादसा हो गया है और इस हादसे में हिमानी
की और उनके इंस्ट्रक्टर की मृत्यु हो गई। ये हादसा महाराष्ट्र के गोदिया जिले के
वैनगंगा नदी के पास हुआ और ये हादसा सुबह 9:30 बजे के आस-पास हुई।

आपको बता दें कि हिमानी की
टेनिंग के आखिरी घंटे चल रहे थे और इसके बाद हिमानी एक पायलेट बनने वाली थी। लेकिन
टेनिंग के आखिरी घंटे में ही विमान क्रैश से होने से उनकी मौत हो गयी।

सूत्रों से मिली जानकारी के
अनुसार हिमानी दो साल से कल्याण गोंदिया के बिरसी हवाई पट्टी से नेशनल फलाइंग
टेनिंग इंस्टीटयुट से विमान उडा़ने की टेनिंग ले रहीं थी और ये उनकी आखिरी उडा़न
थी क्योंकि कमर्शियल पायलेट बनने के लिए कम से कम 200 घंटे विमान उडा़ने का अनुभव
होना चाहिए और हिमानी तब तक 199 घंटे का अनुभव ले चुकी थी। 

Share This Post