ताजमहल में नमाज पढ़े जाने का जवाब उसी अंदाज में दिया बजरंग दल ने.. ताज परिसर में पूजा की, गंगाजल भी चढ़ाया

एकसमय जब हिंदूवादी संगठन के लोगों ने कभी तेजोमहालय रहे ताजमहल परिसर में शिव चालीसा पढी थी तो तथाकथित सेक्युलर बुद्धिजीवियों के पेट में मरोड़ें उठ गईं थी. ताज परिसर में शिव चालीसा को सांप्रदायिक बता दिया गया था. टीवी चैनलों पर बड़ी बड़ी बहस हुई थी तथा देश की मीडिया के बड़े वर्ग ने भी ताज परिसर शिव चालीसा के खिलाफ कड़ी आपत्ति जताई थी तथा हिन्दू समाज को उन्मादी घोषित करते हुए कटघरे में खडा करने का प्रयास किया गया.

लेकिन आश्चर्य, इसके बाद हाल ही में ताजमहल के अन्दर मुस्लिम समाज के लोगों ने नमाज पढी तो कोई कुछ नहीं बोला. सुरक्षा एजेंसिया भी ताज में नमाज पढ़ रहे लोगों के सामने असहाय नजर आईं. ताज के अंदर नमाज का पढ़े जाने को सांप्रदायिक नहीं बताया गया. न तो इस मामले पर कोई बुद्धिजीवी सेकुलर बोला और न ही देश की मीडिया. जिस ताज परिसर में शिवचालीसा को उन्मादी घोषित कर दिया गया, उस ताजमहल के अंदर नमाज पढ़ने पर चुप्पी साध ली गई.

लेकिन अब ताज में नमाज पढ़ने वालों को जवाब दिया है बजरंग दल ने. आपको बता दें कि ताजमहल में मुस्लिम समुदाय द्वारा नमाज पढने के बाद बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने ताजमहल में पूजा अर्चना की. बजरंगदल ने धूप जलाकर पूजा की है. साथ ही गंगाजल का अर्घ्‍य दिया. ये मस्जिद का वो स्थान है, जहां महिलाएं नमाज पढ़ी जाती है. यह पूजा बजरंग दल की महिला सभा की जिलाध्यक्ष मीना दिवाकर ने की है. इसके साथ मीना दिवाकर ने आगे भी पूजा करने का ऐलान दिया है.

बता दें कि पिछले दिनों ताजमहल में नमाज अदा करने के विरोध में राष्ट्रीय बजरंगदल ने ताजमहल में पूजा करने का ऐलान किया था. एएसआई ने ताजमहल की सुरक्षा को लेकर सुप्रीम कोर्ट का हवाला देते हुए शुक्रवार के अलावा अन्य दिन नमाज पर रोक लगा दी थी. लेकिन पिछले दिनों 14 तारीख यानी मंगलवार को मुस्लिम समुदाय के लोगों ने रोक के बाद ताजमहल में नमाज पढ़ी थी.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW