सऊदी अरब गया था दुर्गेश ये सोच कर की वहां उसे मिलेगी ढेर सारी इज्जत और पैसा…


वतन वापसी की ख़ुशी हर ख़ुशी से ऊपर है। अपने परिवार से मिलना हर दर्द ख़त्म कर देता है। सऊदी अरब में फंसे अलीगढ़ के युवक दुर्गेश की 15

अगस्त, स्वतंत्रता दिवस से पहले ही भारत की वापसी का रास्ता साफ हो गया है। दरअसल, बहुत दिनों से दुर्गेश सऊदी में फंसा हुआ था।

जब से दुर्गेश के फंसे होने का मामला चर्चा में आया है तभी से दुबई में रह रहे अलीगढ़ के युवक रूपेश पाठक ने भी विदेश मंत्रालय से संपर्क कर दुर्गेश की वापसी के लिए कोशिशें की। दुबई में रह रहे अलीगढ़ के रूपेश पाठक ने बताया कि दुर्गेश सिंघल के विषय में लगातार प्रकाशित हो रही खबरों के बाद अलीगढ़ के भी चार पांच लोगों ने दुर्गेश की मदद की पेशकश की है।

फिलहाल, उसे आगे किसी प्रकार की दिक्कत नहीं आ रही है।

सारे मेहनतों और मिलीजुली दुवाओं का असर है की मंगलवार को दुर्गेश सिंघल को रियाद के लिए एक पत्र जारी कर दिया है, जिसमें दुर्गेश को कुछ ही दिनों में एक्जिट मिल जाएगा। इसके साथ ही सबसे खुशी की बात यह है कि दुर्गेश को नौकरी देने वाले ने उसके उपर भगोड़े होने को लेकर कहीं पर कोई केस आदि दर्ज नहीं किया है। इसका मतलब है कि वह लकमा श्रेणी में नहीं है। बहरहाल, देश वापसी की रास्ता दुर्गेश के लिए तय हो गया हैं।


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share